अन्तः प्रद्रव्यी जालिका

अन्तः प्रद्रव्यी जालिका

अन्तः प्रद्रव्यी जालिका (Endoplasmic reticulum)

Endoplasm का अर्थ है जीवद्रव्य में और रेटिकुलम (reticulum) का अर्थ है एक प्रकार का जाल या जालिका।

प्रद्रव्यी जालिका - अन्तः प्रद्रव्यी जालिका
अन्तः प्रद्रव्यी जालिका

इसकी खोज तथा नामकरण पोर्टर (Porter) द्वारा की गयी।

एंडोप्लाज्मिक रेटिकुलम को झिल्लीयों का तंत्र (system of membrane) भी कहा जाता है।

यह परिपक्व RBC को छोड़कर सभी यूकेरियोटिक कोशिकाओं में पाया जाता है। मांसपेशियों में एंडोप्लाज्मिक रेटिकुलम को सार्कोप्लाज्मिक रेटिकुलम कहा जाता है। जिसमें Ca की अधिकता होती है।

उपापचय रूप से अधिक सक्रिय कोशिकाओं जैसे आंत्रकोशिका, प्लाज्मा कोशिका, अग्न्याशय कोशिका आदि में इसकी संख्या अधिक विकसित होते हैं।

विश्रांति अवस्था वाली कोशिकाओं और प्रारंभिक भूर्ण कोशिकाओं में इनकी संख्या कम होती है। स्पर्मेटोसाइट में यह कम विकसित होता है।

अन्तः प्रद्रव्यी जालिका की संरचना

एंडोप्लाज्मिक रेटिकुलम तीन प्रकार के घटकों का एक जाल है-

  1. सिस्टर्नी
  2. पुटिका
  3. नलिकाएँ

सिस्टर्नी :- 

ये लंबी, चपटी, अशाखित झिल्ली से बनी संरचना है। ये सिस्टर्नी समानांतर व्यवस्थित होकर लैमिली (lamellae) का निर्माण करती हैं। ये RER में अच्छी तरह से विकसित होती है।

पुटिका:-

ये सिस्टर्नी से अलग, गोल और अंडाकार थैलीनुमा संरचना हैं, जो SER में प्रचुर मात्रा में पायी जाती हैं।

नलिकाएँ :-

ये पुटिका तथा सिस्टर्नी से अलग-थलग और शाखित संरचना हैं। ये SER में अच्छी तरह से विकसित है।

अन्तः प्रद्रव्यी जालिका गोल्जी काय के समान होती है, लेकिन इसके घटक भागों को अलग किया जा सकता है। गोल्जी काय की तरह जीवद्रव्य में इसका कोई निश्चित स्थान नहीं है |

अन्तः प्रद्रव्यी जालिका के प्रकार :-

खुरदरी अन्तः प्रद्रव्यी जालिका:-

RER में राइबोसोम की बड़ी उपइकाई राइबोफ़ोरिन नामक ट्रांसमेम्ब्रेन ग्लाइकोप्रोटीन द्वारा जुड़ी होती है।

RER अग्न्याशय, यकृत और गॉब्लेट कोशिकाओं में पाया जाता है। अनुवादन (Translation) के द्वारा बनी पॉलीपेप्टाइड श्रृंखला को राइबोसोम से RER में स्थान्तरित क्र दिया जाता है जहाँ पर प्रोटीन फोल्डिंग (Protein Folding) और प्रोटीन प्रसंस्करण (Protein Processing) का कार्य होता है। तथा यहाँ पर प्रोटीन छांटनी (protein sorting) का कार्य भी होता है।

चिकनी अन्तः प्रद्रव्यी जालिका:-

इस प्रकार की ER पर राइबोसोम और राइबोफोरिन अनुपस्थित होते हैं। यह मांसपेशियों और ग्लाइकोजन भंडारण करने वाली यकृत कोशिकाओं में पाया जाता है।

SER कोशिकाझिल्ली के लिपिड का संश्लेषण तथा स्टेरॉयड हार्मोन संश्लेषण का प्रमुख स्थल है।

एंडोप्लाज्मिक रेटिकुलम के रूपांतरण:-

सारकोप्लाज्मिक रेटिकुलम:-

ये SER के रूपांतरण से बनते है। इनमें Ca2+ संचित रहता है। कंकाली पेशियों और हृद पेशियों में सारकोप्लाज्मिक रेटिकुलम पाए जाते है।

ग्लाइकोसोम (Glycosome):-

यकृत कोशिकाओं में SER ग्लाइकोजन का संग्रहण करता है जिसे ग्लाइकोसोम कहते है।

माइलॉयड काय (Myeloid Bodies):-

ये रेटिना की वर्णकित उपकला कोशिकाओं (pigmented epithelial cells) में मौजूद विशेष प्रकार की SER हैं। ये प्रकाश संवेदी (light sensitive) होते है |

एर्गैस्टोप्लाज्म (Ergastoplasm):-

ये ER की लैमिला (lamellae) में पाए जाने वाले राइबोसोम का समूह हैं।

माइक्रोसोम (Microsome):-

ये राइबोसोम से संबंधित ER का हिस्सा हैं। जो जीवित कोशिकाओं में नहीं पाया जाता। इनका पात्रे प्रोटीन संश्लेषण (in vitro protein synthesis) के अध्ययन में उपयोग किया जाता है।

टी-नलिकाएं (T-Tubules):-

ये कंकाली पेशियों और हृद पेशियों की कोशिकाओं में अनुप्रस्थ व्यवस्थित होते हैं। ये पेशियों की कोशिकाओं में संकुचन को उत्तेजित और संचालित करते हैं।

चिकनी अन्तः प्रद्रव्यी जालिका के कार्य (Functions of Smooth Endoplasmic Reticulum)

  • SER पर एस्कॉर्बिक एसिड (Vitamin C) का संश्लेषित किया जाता है।
  • SER पर विटामिन ए से रेटिना के वर्णकों का निर्माण होता है।
  • ये लिपिड संश्लेषण और स्टेरॉयड हार्मोन में भाग लेता है
  • ऑक्सीजन स्थानांतरण एंजाइम (ऑक्सीजिनेज) की सहायता से SER आविषालु पदार्थ की विषालुता को कम (Detoxification of drug) किया जाता है।
  • पौधों में SER स्फिरोसोमे (Sphaerosomes) का निर्माण करती है।

खुरदरी अन्तः प्रद्रव्यी जालिका के कार्य (Functions of Rough Endoplasmic Reticulum)

  • विभिन्न प्रकार की प्रोटीन का संश्लेषण (Synthesis of Protein)।
  • ग्लाइकोसिलेशन (Glycosylation) की प्रक्रिया RER में ही होती है।
  • RER में प्रोटियोसोम (proteasome) की सहायता से अनफोल्डेड प्रोटीन (Unfolded protein) को नष्ट किया जाता है।
  • RER द्वारा लाइसोसोम के एंजाइमों का निर्माण किया जाता है।

अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमे फेसबुक(Facebook) पर ज्वाइन करे Click Now

Biology Notes In Hindi

error: Content is protected !!