Yearly Archives: 2018


How to use Auto Correct option in MS Word 2013 MS Word में एक दिलचस्प विकल्प Auto Correct है। Auto Correct feature का उपयोग Document में correct typos, capitalization errors और misspelled को सही करने के लिए किया जाता हैं,  साथ ही यह स्वचालित रूप से symbols और text के […]

How to use Auto Correct option in MS Word 2013


Spelling & Grammar Option MS Word में Spelling & Grammar Check करने की सुविधा होती है। जो यूजर English की कम जानकारी रखते है उनके लिये यह एक महत्वपूर्ण टूल है। MS Word यूजर द्वारा लिखी गयी गलत Spelling & Grammar को show करने लगता है। यदि word की Spelling […]

Spelling & Grammar Option


Bullets and Numbering Bullets and Numbering का प्रयोग लिस्ट बनाने के लिए किया जाता है अर्थात विषय वस्तु को एक क्रम में सजाने के लिए Bullets and Numbering का प्रयोग करते हैं| Bullets and Numbering के द्वारा हम अपनी लिस्ट को अधिक आकर्षित बना सकते हैं| इसे MS Word 2013 […]

Bullets and Numbering



Table of Content in MS Word 2013 Professional Documents की सबसे आम विशेषताओं में से एक Table of Content (TOC) है। Microsoft Word आपको TOC को Styles का उपयोग किए बिना एक TOC बनाने का विकल्प बनाता है और आपको Text के किसी विशेष स्थान पर एक शब्द या शब्दों […]

Table of Content in MS Word 2013


Features of MS Word 2013 माइक्रोसॉफ्ट के Word Processing application का नवीनतम संस्करण MS Word 2013 आ गया हैं इसमें कई उपयोगी नई विशेषताएं हैं जो पुराने versions से परे हैं माइक्रोसॉफ्ट के MS Word 2013 में एक नया इंटरफ़ेस और कई उपयोगी अपडेट हैं जो गैर-लाभकारी संस्थाओं, दानों और पुस्तकालयों […]

Features of MS Word 2013


How to Use Templates in MS Word 2013 यदि आप अक्सर एक निश्चित प्रकार का दस्तावेज़ बनाते हैं, जैसे कि मासिक रिपोर्ट, बिक्री पूर्वानुमान, या कंपनी लोगो के साथ प्रेजेंटेशन, तो आप इसे टेम्पलेट के रूप में Save कर सकते हैं ताकि आप फ़ाइल को पुन: बनाने के बजाय अपने […]

How to Use Templates in MS Word 2013



track-change
Working with MS Word 2013 Microsoft Word 2013 एक Word Processing Program है, जो पेशेवर-गुणवत्ता वाले Document बनाने के लिए डिज़ाइन किया गया है। MS Word आपको अपने Documents को व्यवस्थित रूप से व्यवस्थित करने और लिखने में सहायता करता है। MS Word की सहायता से आप letter, Resume आदि […]

Working with MS Word 2013


Types of Number System Computer एक मशीन है जो सिर्फ बाइनरी लैंग्वेज को समझती है अर्थात कंप्यूटर यूजर की भाषा को नहीं समझता और न ही यूजर कंप्यूटर की भाषा को समझता है ,इसलिए कुछ नंबर सिस्टम है जो कंप्यूटर में प्रयोग किये जाते है | Number system का प्रयोग […]

Types of Number System


Difference between RAM and ROM Memory RAM Memory (रैम मेमोरी) 1. यह रैंडम एक्सेस मेमोरी है | 2. इसमें यूजर द्वारा सूचनाओं को लिखा व पढ़ा जा सकता है| 3. यह कंप्यूटर की volatile मेमोरी होती है| 4. कंप्यूटर के बंद होते हैं इसमें संग्रह की सूचनाएं नष्ट हो जाती […]

Difference between RAM and ROM Memory



Difference between Primary and secondary memory (प्राइमरी और सेकेंडरी मेमोरी में अंतर) Primary Memory (प्राइमरी मेमोरी) 1. यह मेमोरी सूचनाओं को अस्थाई रूप से संग्रहित करके रखती हैं अर्थात करंट के बंद होते की सूचनाएं नष्ट हो जाती हैं| 2. यह मेमोरी सेकेंडरी मेमोरी की अपेक्षा महंगी होती है| 3. […]

Difference between Primary and secondary memory


Computer keyboard shortcut keys Shortcut keys कंप्यूटर के सभी सॉफ्टवेर में कमांड्स को देने का आसान तरीका माना जाता है क्यूंकि इनकी सहायता से हम आसानी से किसी भी कमांड को दे सकते हैं वरना हमें उस कार्य के लिए कई सारे माउस क्लिक करने पड़ते| प्रायः विंडोज कंप्यूटर में […]

Computer keyboard shortcut keys


Open Source Software
Proprietary Software आमतौर पर जब कोई सॉफ्टवेयर डेवलप किया जाता है और उसे लॉन्च किया जाता है तो उस सॉफ्टवेयर के साथ उसका सोर्स कोड नहीं दिया जाता। सोर्स कोड डेवलपर के पास ही रहता है। एक यूजर के रूप में आप उस सॉफ्टवेयर के फंक्शंस और फीचर्स का उपयोग […]

Proprietary Software/Open Source Software /Embedded Software



Solid State Drive
Solid State Drive (SSD) SSD को Solid State Drive भी कहते है, SSD एक स्टोरेज डिवाइस है | यह देखने में हार्डडिस्क की तरह ही होती है ,लेकिन इसकी स्टोरेज कैपेसिटी हार्डडिस्क से कही ज्यादा होती है |इसमे हार्डडिस्क की तरह ना ही कोई मोटर होती है और ना ही […]

Solid State Drive (SSD)


Microprocessor and Chip (माइक्रोप्रोसेसर एवं चिप) कई तकनीकों के संयोग से आधुनिक कम्‍प्‍यूटर बना हैं। इनमें किसी तकनीक ने प्रोग्रामिंग, किसी ने गणना, किसी ने छपाई तो किसी ने छोटे कम्‍प्‍यूटरों के निर्माण में अपना योगदान दिया हैं | कम्‍प्‍यूटर प्रोग्रामिंग एवं संचालन ज्‍यॉर्ज बूले द्वारा विकसित लॉजिकल एलजेब्रा के […]

What is Microprocessor and Chip


Compiler तथा Interpreter में अंतर कम्‍पाइलर इंटरप्रेटर यह सम्‍पूर्ण प्रोग्राम को मशीन कोड में एक साथ Translate कर सकता हैं। यह सम्‍पूर्ण प्रोग्राम को मशीन कोड में Line-by line Translate कर सकता हैं।   जब तक प्रोग्राम में निहित समस्‍त Syntax error को हटा नहीं दिया जाता हैं, हम प्रोग्राम […]

Difference between Compiler and Interpreter



System Processing Modes (कम्‍प्‍यूटर प्रोसेसिंग की विधियाँ) कम्‍प्‍यूटर पर कार्य करने की कई विधियां हैं:- बैच प्रोसेसिंग (Batch Processing) टाइम शेयरिंग (Time Sharing) मल्‍टी प्रोग्रामिंग (Multi Programming) मल्‍टी प्रोसेसिंग (Multi Processing) बैच प्रोसेसिंग (Batch Processing) फ्लॉपी डिस्‍क के प्रचलन से पहले, जब मेनफ्रेम कम्‍प्‍यूटर ही उपलब्ध थे, यह विधि आम […]

System Processing Modes (कम्‍प्‍यूटर प्रोसेसिंग की विधियाँ)


हार्ड‍ डिस्‍क
हार्डवेयर क्या हैं? कम्‍प्‍यूटर के अन्दर एक प्रोसेसर होता हैं जिससे बाकी डिवाइसेज (devices) जुड़े होते हैं। इन सभी डिवाइस को और स्‍वयं कम्‍प्‍यूटर को हार्डवेयर कहा जाता हैं इस तरह कम्‍प्‍यूटर से जुड़ी सभी इनपुट, आउटपुट डिवाइसेज या अन्‍य भागों को हार्डवेयर कहा जाता हैं। कम्‍प्‍यूटर हार्डवेयर के कुछ […]

Computer Hardware and its components (कंप्यूटर हार्डवेयर और उसके तत्व)


Generations of Computer (कंप्यूटर की पीढियां) सन् 1946 में प्रथम इलेक्‍ट्रॉनिक डिवाइस, वैक्‍यूम ट्यूब (Vacuum Tube) युक्‍त एनिएक कम्‍प्‍यूटर की शुरूआत ने कम्‍प्‍यूटर के विकास को एक आधार प्रदान किया कम्‍प्‍यूटर के विकास के इस क्रम में कई महत्‍वपूर्ण डिवाइसेज की सहायता से कम्‍प्‍यूटर ने आज तक की यात्रा तय […]

कंप्यूटर की पीढियां (Generations of Computer)



Number System किसी भी संख्‍या को निरूपित(Denote) करने के लिए एक विशेष Number System का प्रयोग किया जाता हैं। प्रत्‍येक Number System में प्रयोग किए जाने वाले अंक या अंको के समूह से उसको दर्शाया  जाता हैं। प्रत्‍येक संख्‍या का एक निश्चित आधार (Base) होता हैं। जो उस Number System […]

Number System


वीडियो मानक या डिस्प्ले पद्धति (Video Standard or Display Modes) वीडियो मानक से तात्पर्य मॉनीटर में लगाये जाने वाले तकनीक से है| पर्सनल कंप्यूटर की वीडियो तकनीक में दिन प्रतिदिन सुधार आता जा रहा है| अब तक परिचित हुए मानकों में वीडियो स्टैंडर्ड के कुछ उदाहरण निम्नलिखित है कलर ग्राफिक्स […]

Video Standard or Display Modes (वीडियो मानक या डिस्प्ले पद्धति)


Mainframe computer मेनफ्रेम कंप्यूटर आकार में बहुत बड़े होते हैं साथ ही इनकी स्टोरेज क्षमता भी अधिक होती है| इन में अधिक मात्रा के डाटा पर तीव्रता से प्रोसेस करने की क्षमता होती है इसलिए इनका उपयोग बड़ी कंपनियां बैंक तथा सरकारी विभाग एक सेंट्रलाइज कंप्यूटर सिस्टम के रूप में […]

Mainframe computer



डाटा अभिगमन विधियाँ (Data Access Methods) सीधे अभिगमन (Direct Access) क्रमिक एक्सेस (Sequential Access) इंडेक्स सिक्वेंशियल अभिगमन (Index Sequential Access) सीधे अभिगमन विधि (Direct Access Method) Direct Access Method में डाटा को किसी भी क्रम में प्राप्त किया जा सकता है एवं किसी भी क्रम में डाटा को स्टोर किया जा सकता […]

डाटा अभिगमन विधियाँ (Data Access Methods)


Computer Language (कंप्यूटर भाषा)
Computer Language (कंप्यूटर भाषा) हर देश तथा राज्य की अपनी अपनी भाषा होती हैं और इसी भाषा के कारण लोग एक दूसरे की बातो को समझ पाते है| ठीक उसी प्रकार कंप्यूटर की भी अपनी भाषा होती है जिसे कंप्यूटर समझता है गणनाये करता है और परिणाम देता है| प्रोग्रामिंग भाषा […]

Computer Language (कंप्यूटर भाषा)


वायरस निरोधक प्रोग्राम (Virus prevention program) हमारे कंप्यूटर में वायरस को खोजकर उसे नष्ट करने के लिए बनाये गए प्रोग्राम का एंटीवायरस (ANTI VIRUS) है। एंटी वायरस एक प्रोग्राम है जो की हमारे कंप्यूटर में वायरस को खोजता है और उन्हें नष्ट करता है। कंप्यूटर के लिए एंटी वायरस बहुत […]

वायरस निरोधक प्रोग्राम (Virus prevention program)