माउस क्या है | How to use computer mouse

माउस क्या है | How to use computer mouse Mouse एक इनपुट डिवाईस है, जिसका वास्तविक नाम Pointing Device है. Mouse का उपयोग मुख्यत: कम्प्युटर स्क्रीन पर Items को चुनने, उनकी तरफ जाने तथा उन्हे खोलने एवं बदं करने में किया जाता है. Mouse के उपयोग द्वारा युजर कम्प्युटर को निर्देश देता है. इसके द्वारा एक युजर कम्प्युटर स्क्रीन पर कहीं भी पहुँच सकता है | कम्प्युटर माउस का आविष्कार एक द्वितीय विश्व युद्ध (World War II) सैनिक Douglas C. Engelburt ने सन 1968 में किया था. साधारण Mouse आमतौर…

Read More

Uses of Computer – Computer के उपयोग

Uses of Computer – Computer के उपयोग ज के समय में कोई ऐसा व्यक्ति होगा जो Computer से परिचित नही होगा. हमारे चारों तरफ Computers है. Computers आधुनिक जिदंगी का एक मुख्य हिस्सा है. इनके आविष्कार से लेकर अब तक ये छोटे और तेज होते गए है. Computer के बिना अब किसी काम की कल्पना भी नहीं कर सकते है. हर कोई Computer का उपयोग अपने हिसाब से अलग-अलग कार्यों के लिए करता है. शिक्षक, लेखक तथा वैज्ञानिक शोध के लिए Computer का उपग्यो करते है. वहीं, इंजिनियर्स, डिजाईनर्स अपने…

Read More

अनुच्छेद 35A के बारे में जानें – Art. 35A Explained in Hindi

अनुच्छेद 35A के बारे में जानें – Art. 35A Explained in Hindi हाल ही में सर्वोच्च न्यायालय ने कहा है कि वह संविधान की धारा 35A की संवैधानिक वैधता को चुनौती देने वाली याचिका की सुनवाई की तिथि के विषय में कक्ष के अन्दर (in-chamber) निर्णय लेगा. विदित हो कि धारा 35A जम्मू-कश्मीर राज्य के स्थायी निवासियों को अलग अधिकारों एवं विशेषाधिकारों का प्रवाधान करती है. ज्ञातव्य है कि जब बिना किसी औपचारिक न्यायालय कार्यवाही के न्यायाधीश के कक्ष में कोई आदेश निर्गत होता है तो यह प्रक्रिया कक्ष के…

Read More

भारत सरकार अधिनियम – Government of India Act, 1935

भारत सरकार अधिनियम – Government of India Act, 1935 ब्रिटिश शासन के द्वारा भारतीय जनता को संतुष्ट करने के लिए सन् 1861, 1892, 1909, 1919 और 1935 में कानून पास किये गए लेकिन ये सुधार भारतीय जनता को कभी संतुष्ट नहीं कर सके. 1935 का भारतीय सरकार/शासन अधिनियम (Government of India Act, 1935) भारतीय संविधान का एक प्रमुख स्रोत रहा है. भारत के वर्तमान संविधान की विषय-सामग्री और भाषा पर इस अधिनियम का प्रभाव स्पष्टतय देखा जा सकता है. संघ और राज्यों के बीच शक्ति-विभाजन और राष्ट्रपति के संकटकालीन अधिकारों…

Read More

भारतीय संविधान से जुड़े तथ्य

भारतीय संविधान से जुड़े तथ्य (Facts related to Indian constitution) अक्सर परीक्षा में पूंछे जाने वाले  भारतीय संविधान से जुड़े कुछ तथ्य हैं| भारतीय संविधान का निर्माण एक संविधान सभा द्वारा 2 वर्ष 11 महीने तथा 18 दिन में किया गया. संविधान सभा का गठन कैबिनेट मिशन योजना के प्रावधानों के अनुसार अप्रत्यक्ष रूप से राज्यों के विधान-सभाओं द्वारा नवम्बर 1946 में किया गया था. संविधान सभा में कुल 389 सदस्य थे, जिनमें 292 प्रांतों से तथा 93 देशी रियासतों से चुने जाने थे. 4 सदस्य कमीश्नरी क्षेत्र के थे.…

Read More

गैसों का द्रवण Liquefaction of gases | States of matter

States of matter गैसों का द्रवण ( Liquefaction of gases) states of matter by rahul khandelwal HP = high pressore LT = Low Temp. Means A gas can be liqufied both by increasing  pressure & decreasing Temp. (अर्थात एक गैस को उच्च दाब एवं निम्न ताप पर द्रवित किया जा सकता है ) Co2 gas can not liqufied at 35°C How Co2 (35°C)                             so much pressure we apply. 79.3 bar Co2 (31.1°C)                                          Co2 (Liquid) Means Co2 can be liquied at 31.1°C Means In liquefaction of gases is more than significant…

Read More

विलोम शब्द की परिभाषा, भेद और उदाहरण

विलोम शब्द की परिभाषा, भेद और उदाहरण विलोम शब्द : विलोम का अर्थ होता है उल्टा। जब किसी शब्द का उल्टा या विपरीत अर्थ दिया जाता है उस शब्द को विलोम शब्द कहते हैं अथार्त एक – दूसरे के विपरीत या उल्टा अर्थ देने वाले शब्दों को विलोम शब्द कहते हैं। इसे विपरीतार्थक शब्द भी कहते हैं। विलोम शब्द बनाने के नियम :- 1. लिंग परिवर्तन से :- जैसे :- भाई – बहन , राजा -रानी , वर-वधू , लड़का-लडकी , गाय-बैल , कुत्ता-कुतिया आदि। 2. अलग जाति के शब्दों…

Read More

वचन की परिभाषा

वचन वचन की परिभाषा : वचन का शब्दिक अर्थ संख्यावचन होता है। संख्यावचन को ही वचन कहते हैं। वचन का एक अर्थ कहना भी होता है। संज्ञा के जिस रूप से किसी व्यक्ति , वस्तु के एक से अधिक होने का या एक होने का पता चले उसे वचन कहते हैं। अथार्त संज्ञा के जिस रूप से संख्या का बोध हो उसे वचन कहते हैं अथार्त संज्ञा , सर्वनाम , विशेषण और क्रिया के जिस रूप से हमें संख्या का पता चले उसे वचन कहते हैं। जैसे :- लडकी खेलती…

Read More

भाषा ,लिपि और व्याकरण

भाषा ,लिपि और व्याकरण भाषा क्या होती है :- हमारे भावों और विचारों की अभिव्यक्ति के लिए रूढ़ अर्थों में जो ध्वनि संकेतों की व्यवस्था प्रयोग में लायी जाती है उसे भाषा कहते हैं। अथार्त जब हम अपने विचारों को लिखकर या बोलकर प्रकट करते हैं और दूसरों के विचारों को सुनकर या पढकर ग्रहण करते हैं उसे भाषा कहते हैं। मनुष्य एक समाज में रहने वाला प्राणी है। वह अपने विचारों , भावनाओं को बोलकर ही व्यक्त करता है। भाषा को ध्वनि संकेतों की व्यवस्था माना जाता है। यह…

Read More

लिंग की परिभाषा, भेद और उदाहरण

लिंग की परिभाषा, भेद और उदाहरण लिंग किसे कहते हैं :- लिंग संस्कृत का शब्द होता है जिसका अर्थ होता है निशान। जिस संज्ञा शब्द से व्यक्ति की जाति का पता चलता है उसे लिंग कहते हैं। इससे यह पता चलता है की वह पुरुष जाति का है या स्त्री जाति का है। उदाहरण के लिए : पुरुष जाति में = बैल , बकरा , मोर , मोहन , लड़का , हाथी , शेर , घोडा , दरवाजा , पंखा , कुत्ता , भवन , पिता , भाई आदि। स्त्री…

Read More

प्रत्यय की परिभाषा, भेद और उदाहरण

प्रत्यय की परिभाषा, भेद और उदाहरण प्रत्यय : प्रत्यय दो शब्दों से मिलकर बना होता है – प्रति +अय। प्रति का अर्थ होता है ‘ साथ में ,पर बाद में ‘ और अय का अर्थ होता है ‘ चलने वाला ‘।अत: प्रत्यय का अर्थ होता है साथ में पर बाद में चलने वाला। जिन शब्दों का स्वतंत्र अस्तित्व नहीं होता वे किसी शब्द के पीछे लगकर उसके अर्थ में परिवर्तन कर देते हैं। प्रत्यय का अपना अर्थ नहीं होता और न ही इनका कोई स्वतंत्र अस्तित्व होता है। प्रत्यय अविकारी…

Read More

उपसर्ग की परिभाषा, भेद और उदाहरण

उपसर्ग की परिभाषा, भेद और उदाहरण उपसर्ग : उपसर्ग दो शब्दों से मिलकर बना होता है उप+सर्ग। उप का अर्थ होता है समीप और सर्ग का अर्थ होता है सृष्टि करना। संस्कृत एवं संस्कृत से उत्पन्न भाषाओँ में उस अव्यय या शब्द को उपसर्ग कहते है। अथार्त शब्दांश उसके आरम्भ में लगकर उसके अर्थ को बदल देते हैं या फिर उसमें विशेषता लाते हैं उन शब्दों को उपसर्ग कहते हैं। शब्दांश होने के कारण इनका कोई स्वतंत्र रूप से कोई महत्व नहीं माना जाता है। उदाहरण :- हार एक शब्द…

Read More

हिंदी वर्णमाला

हिंदी वर्णमाला हिन्दी वर्णमाला : हिंदी भाषा की सबसे छोटी इकाई ध्वनि होती है। इसी ध्वनि को ही वर्ण कहा जाता है। वर्णों को व्यवस्थित करने के समूह को वर्णमाला कहते हैं। हिंदी में उच्चारण के आधार पर 45 वर्ण होते हैं। इनमें 10 स्वर और 35 व्यंजन होते हैं। लेखन के आधार पर 52 वर्ण होते हैं इसमें 13 स्वर , 35 व्यंजन तथा 4 संयुक्त व्यंजन होते हैं। वर्णमाला के दो भाग होते हैं :- 1. स्वर 2. व्यंजन 1. स्वर क्या होता है :- जिन वर्णों को…

Read More

मुहावरे के अर्थ वाक्य और विशेषताएं

मुहावरे के अर्थ वाक्य और विशेषताएं मुहावरे (Muhavare) : मुहावरे का शाब्दिक अर्थ होता है – अभ्यास। विशेष अर्थ को प्रकट करने वाले वाक्यांश को मुहावरा कहते हैं। मुहावरा पूर्ण वाक्य नहीं होता इसलिए इसका स्वतंत्र रूप से प्रयोग नहीं किया जा सकता। ऐसे वाक्यांश जो सामान्य अर्थ का बोध न कराकर किसी विलक्षण अर्थ की प्रतीति कराये उसे मुहावरा कहते हैं ।ये विशेष अर्थ को ही मुहावरा कहते हैं। हिंदी भाषा में मुहावरों का प्रयोग भाषा को सुंदर, प्रभावशाली ,संक्षिप्त तथा सरल बनाने के लिए किया जाता है। ये…

Read More

समास की परिभाषा भेद

समास की परिभाषा भेद समास (समास की परिभाषा) समास का तात्पर्य होता है – संछिप्तीकरण। इसका शाब्दिक अर्थ होता है छोटा रूप। अथार्त जब दो या दो से अधिक शब्दों से मिलकर जो नया और छोटा शब्द बनता है उस शब्द को समास कहते हैं। दूसरे शब्दों में कहा जाए तो जहाँ पर कम- से- कम शब्दों में अधिक से अधिक अर्थ को प्रकट किया जाए वह समास कहलाता है। संस्कृत , जर्मन तथा बहुत सी भारतीय भाषाओँ में समास का बहुत प्रयोग किया जाता है। समास रचना में दो…

Read More

मकान किराया रसीद

मकान किराया रसीद house Rant Receipt INCOME TAX में छुट हेतु मकान किराये की रसीद का फॉर्मेट प्रपत्र HRA पर टैक्स लाभ के लिए दस्तावेज एचआरए पर टैक्स छूट उसी स्थिति में मिल सकती है जब आपके पास किराये की रसीद हो. अगर आपके पास मकान मालिक के साथ हुआ रेंट एग्रीमेंट है तब भी आप इसका लाभ उठा सकते हैं. यदि किराए के रूप में आपने हर महीने 15,000 (पंद्रह हजार) रुपये या साल में 1,00,000(एक लाख )रुपये से ज्यादा किराया चुकाया है तो छूट पाने के लिए मकान…

Read More

संज्ञा की परिभाषा भेद, उदाहरण

संज्ञा की परिभाषा भेद , उदाहरण संज्ञा की परिभाषा : संज्ञा का शाब्दिक अर्थ होता है – नाम। किसी व्यक्ति , गुण, प्राणी, व् जाति, स्थान , वस्तु, क्रिया और भाव आदि के नाम को संज्ञा कहते हैं। संज्ञा के उदाहरण रमेश परीक्षा में प्रथम आया था। इसलिए वह दौड़ता हुआ स्कूल से घर पहुंचा, इस बात से वह बहुत खुश था। उसने यह बात अपने माता- पिता को बताई। यह समाचार सुन वह इतने आनंदित हुए कि उन्होंने उसे गले लगा लिया। यहाँ पर खुश और आनंदित (भाव ),…

Read More

पर्यायवाची शब्द परिभाषा उदाहरण-पर्यायवाची शब्द

पर्यायवाची शब्द परिभाषा उदाहरण-पर्यायवाची शब्द पर्यायवाची शब्द :- किसी शब्द-विशेष के लिए प्रयुक्त समानार्थक शब्दों को पर्यायवाची शब्द कहते हैं। यद्यपि पर्यायवाची शब्द समानार्थी होते हैं किन्तु भाव में ये एक-दूसरे से किंचित भिन्न होते हैं। सरल शब्दों में जिन शब्दों के अर्थ में समानता होती है, उन्हें समानार्थक, समानार्थी या पर्यायवाची शब्द कहते हैं। उदाहरण के लिए :- अ आ से शुरू होने वाले पर्यायवाची शब्द : अंधकार – तम, तिमिर, अँधेरा, तमस, अंधियारा. आम – रसाल, आम्र, सौरभ, अमृतफल. आंसू – नेत्रजल, नयनजल, चक्षुजल, अश्रु. आत्मा – जीव,…

Read More

अलंकार की परिभाषा, भेद और उदाहरण

अलंकार की परिभाषा, भेद और उदाहरण अलंकार (Alankar) अलंकार दो शब्दों से मिलकर बना होता है – अलम + कार। यहाँ पर अलम का अर्थ होता है ‘ आभूषण। मानव समाज बहुत ही सौन्दर्योपासक है उसकी प्रवर्ती के कारण ही अलंकारों को जन्म दिया गया है। जिस तरह से एक नारी अपनी सुन्दरता को बढ़ाने के लिए आभूषणों को प्रयोग में लाती हैं उसी प्रकार भाषा को सुन्दर बनाने के लिए अलंकारों का प्रयोग किया जाता है। अथार्त जो शब्द काव्य की शोभा को बढ़ाते हैं उसे अलंकार कहते हैं।…

Read More