500 रु. और 2000 रु. के आगमन से Indian Economy पर प्रभाव

500 रु. और 2000 रु. के आगमन से Indian Economy पर प्रभाव




2000 rs new note - 500 रु. और 2000 रु. के आगमन से Indian Economy पर प्रभाव

र की रात से भारत में प्रचालित या जमा किये गए 500 रु. और 1000 रु. के जितने भी नोट हैं, वे अमान्य (invalid) हो जायेंगे यानी उनकी value कागज़ के सामान हो जाएगी. पर ऐसा निर्णय क्यों  लिया गया? आम जनता पर इसका क्या प्रभाव पड़ेगा जिनके पास पहले से ही 500 रु. और 1000 रु. के कुछ नोट घर के अलमारी में पड़ें हैं?  आगे बताते हुए श्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि आम जनता के पास जितने भी 500 रु. और 1000 रु. के नोट पहले से पड़े हैं, वे उन्हें 10 नवम्बर से 30 दिसम्बर (50 दिन) तक बैंक में जमा कर आयें.

यह भारत सरकार की एक सर्जिकल स्ट्राइक है जिसका अंजाम काले धन जमा करने वाले, जमाखोरों, तस्करी करने वाले लोग भुगतेंगे. नकली नोट और काले धन का इस्तेमाल भारत में आतंकवाद फैलाने के लिए हो रहा है. नकली नोट छापने वाले जो बाजार में न जाने करोड़ों रुपये तक के नोट अभी तक बाजार में फैला और छाप रखे होंगे, आज रात से सब की value अब zero rupee हो चुकी है.

पर मोदी ने demonetization का फैसला लिया क्यूँ?

Demonetization यानी किसी ख़ास मुद्रा का चलन बंद कराने का लक्ष्य केवल एक होता है और वह है जमा किये काले धन को मृतप्राय बना देना. इसलिए ऑफिस में काम करने वाले बड़े बाबू, अफसर, उद्योगपति आदि जिन्होंने गैर-कानूनी रूप से काला धन कमाया है, उनके लिए 11 नवम्बर की तारीख किसी काले दिन से कम नहीं है. काले धन कमाने वाले black money बैंक में नहीं रख सकते क्योंकि बैंकों के पास उनके काले धन का record हो जायेगा. इसलिए अक्सर आपने सुना होगा कि काले धन कमाने वाले लोग अपना पैसा Swiss Bank में जमा करते हैं जहाँ RBI को data निकालने में दिक्कत का सामना करना पड़ता है. इसलिए काले धन कमाने वाले घूसखोर, गैर-कानूनी ढंग से कमाए गए पैसे को घर की टंकी में, बिस्तर के नीचे, धरती के नीचे टंकी बना कर जमा कर रखते हैं. 2015 में भारत में 4 लाख 77 हजार 546 करोड़ रुपये के नकली नोट जब्त किये गए. अब जरा आप सोचिये! मोदी के इस decision से उन पर क्या बीत रही होगी? उनके सारे पैसे अब कागज़ के मूल्य के हो गए!

मोदी ने और क्या-क्या announce किया? Important points Modi mentioned about 2016 Demonetization

  1. भारत के सभी सिक्के और 1, 2, 5, 10, 20, 50 और 100 रूपए के नोट चलेंगे
  2. रुपये (INR) की एक नई शृंखला की शुरुआत होगी. 500 रुपये के नए नोट आयेंगे और 2000 रु.
  3. बैंक 9 नवम्बर को बंद रहेंगे.
  4. 9-10 तारीख को एटीएम (ATM) भी बंद रहेंगे.
  5. कुछ दिनों तक आप अपने per debit card से केवल Rs. 2000 ही निकाल सकते हैं. बाद में यह सीमा बढ़ा कर Rs. 4000 कर दी जाएगी.
  6. यदि आपको cash की जरुरत है तो आप अभी बैंक जा कर पुराने 500 रु और 1000 रु के नोट को exchange भी कर सकते हैं.
  7. इंटरनेट बैंकिंग, नकद, डिमांड ड्राफ्ट के लेन-देन पर कोई प्रतिबंध नहीं होगा.
  8. दैनिक नकद निकासी की सीमा 10,000 रुपये और मासिक निकासी की सीमा 20,000 रु. तय की गई है.
  9. RBI द्वारा जल्द ही 500 और 2000 के नोट जारी किये जायेंगे.
  10. डाकघर, बैंक इत्यादि को अतिरिक्त काउंटर खोलने का निर्देश दिया गया है और जनता की सुविधा के लिए कर्मचारियों के काम करने के घंटे (working hours) का विस्तार का भी निर्देश है.
  11. 72 घंटे यानी तीन दिन तक सरकारी अस्पतालों में Rs. 500 और Rs. 1000 के नोट स्वीकार किये जायेंगे.
  12. रेलवे, सरकारी बस, एयरलाइन टिकेट काउंटर में भी तीन दिनों तक Rs. 500 और Rs. 1000 के नोट स्वीकार किये जायेंगे.
  13. Government Oil Companies में तीन दिनों तक Rs. 500 और Rs. 1000 के नोट स्वीकार किये जायेंगे.

कुछ ऐसा दिखेगा 500 रु. और 1000 रु. का नया नोट



500 rs aur 2000 rs ka naya note - 500 रु. और 2000 रु. के आगमन से Indian Economy पर प्रभाव

आगे आपको बताऊंगा कि इस Demonetization के बाद आम जनता क्या अब क्या Step ले?

शुरआती दौर में आम जनता को दिक्कत आ सकती है. जैसे बैंक में भीड़ भी लगेगी, लम्बी कतारें लगेगी. सब अपना-अपना पैसा जमा कराने बैंकों में आयेंगे. RBI अन्य नोट अधिक से अधिक छापेगा. जिससे inflation भी आ सकता है. वैसे RBI 2000 रु. के नोट को regulate और monitor करते रहेगा और अर्थव्यवस्था पर इसके प्रभाव पर उसकी पैनी नज़र रहेगी. यह आर्टिकल बाद में फिर से अपडेट किया जायेगा.

आपको नोट एक्सचेंज करने के लिए यह फॉर्म भरना पड़ेगा:— Form Format (Annex 5)

72 - 500 रु. और 2000 रु. के आगमन से Indian Economy पर प्रभाव

 

500 Rs, 1000 Rs, 2000 Rs. New Note की Exchange Policy –  कब और कैसे होगी?

7 - 500 रु. और 2000 रु. के आगमन से Indian Economy पर प्रभाव



अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमे फेसबुक (Facebook) पर ज्वाइन करे Click Now

error: Content is protected !!