GK

राजस्थान राज्य में ऊर्जा संसाधन

राजस्थान राज्य में ऊर्जा संसाधन (Energy Resources in Rajasthan State)

Energy Resources in Rajasthan State
Energy Resources in Rajasthan State




  • राजस्थान राज्य विधुत मण्डल – इसकी स्थापना 1 जुलाई , 1957 को की गई |
    • 1991  के बाद राज्य में विधुत उत्पादन शेत्र में निजी शेत्र को प्रवेश दिया गया |
  • राजस्थान देश का पहला राज्य है झहां एक ही चरण में विधुत शेत्र सुधार कार्यक्रम को अपनाया जाता है |
  • गुढा ( बीकानेर ) – निजी शेत्र की राजस्थान की पहली लिग्नाइट आधरित विधुत परियोजना |
  • गिरल परियोजना – बाड़मेर की शिव तहसील के गुम्बली में राज्य का पहला लिग्नाइट गैसीकारण तकनीक पर आधरित विधुतगृह |
  • कपूरडी-जालिपा लिग्नाइट तापीय विधुत परियोजना – बाड़मेर में स्थित है |
  • विधुत जिला – 27 फरवरी 2007 की गिरल में पहले लिग्नाइट आधारित विधुत गृह गिरल लिग्नाइट थर्मल पावर स्टेशन की 125 मेगा वाट की प्रथम इकाई शिलान्यास किया गया | बाड़मेर निकट भविष्य में विधुत जिला कहलायेगा |
  • सूरतगड सुपर थर्मल पॉवर स्टेशन ( श्रीगंगानगर )- राजस्थान की पहली सुपर थर्मल पॉवर परियोजना |
  • कोटा सुपर थर्मल पावर प्रोजेक्ट – कोटा में स्थापित दूसरा सुपर थर्मल पावर परियोजना |
  • कालिसिंधी थर्मल पावर प्रोजेक्ट – झालावाड में स्थित राज्य का तीसरा सुपर थर्मल प्रोजेक्ट |
  • बांसवाडा – सितम्बर 2008 में राज्य सरकार ने बॉसवाडा में 1320 मेगावाट का सुपर थर्मल पावर स्टेशन लगाने की घोषणा की |



  • छबड़ा थर्मल पॉवर प्रोजेक्ट – बाँरा जिले में स्थित है |
  • रामगढ गैस विधुत परियोजना – जैसलमेर के रामगढ में संचालित गैस आधरित विधुत परियोजना |
  • राजस्थान परमाणु शक्ति गृह ( R.A.P.P. ) – रावतभाटा ( चित्तौडगड )  में स्थापित देश  दूसरा एवम राज्य का पहला परमाणु विधुतगृह | राज्य के कुल विधुत उत्पादन में इसका योगदान 30 प्रतिशत है | यह कनाडा के सहयोग से स्थापित है |
  • अमरसागर – जैसलमेर जिले के इस स्थान पर अक्टूबर 1999 में राजस्थान स्टेट पावर कारपोरेशन लिमिटेड द्वारा राज्य का प्रथम पवन उर्जा सयंत्र स्थापित किया गया |
  • देवगड़ ( प्रतापगड )- राज्य का दूसरा पवन उर्जा परियोजना |
  • बालेसर ( जोधपुर ) – भारत का प्रथम सौर उर्जा चालित फ्रिज यहा स्थित है |
  • जैलमेर -बाड़मेर-जोधपुर जिलो में पसौर उर्जा के विकास की सम्भावनाओ की दखते हुए इन्हें SEEZ ( soler Enragy Enterprises Zone ) का दर्जा प्रदान किया गया |
  • गोरमघाट – अजमेर मण्डल के मावली-मारवाड़ जंक्सन के मध्य गोरमघाट रेलवे स्टेशन भारत का पहला उर्जा संचालित स्टेशन है |
  • लिग्नाइट परियोजना – सितम्बर 2008 में बीकानेर के बरसिगसर स्थित लिग्नाइट [परियोजना का शिलान्यास किया गया | इस परियोजना की शमता को 250 मेगावाट की गई है |
  • गौरिर ( झुंझनु )- राजस्थान इल्क्ट्रोनिक एंड इंस्ट्रूमेंट लि. ( रील ) की और से यहा राज्य का पहला 100 किलोवाट शमता वाला सौर उर्जा संयत्र लगाया गया है |
  • कालिसिंधी विधुत परियोजना – राज्य सरकार ने 7 जून 2007 को झालावाड जिले में एक हजार मेगावाट की इस परियोजना को मंजूरी दी गई है |
  • कवई – बारा जिले के इस स्थान पर सुपर थर्मल बिजलीघर स्थापित किया जायेगा | राज्य सरकार ने इस प्रस्तावित बिजलीघर को आडानी समूह की सोंपा है |




अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमे फेसबुक(Facebook) पर ज्वाइन करे Click Now