खंदर का क़िला

खंदर का क़िला
%25E0%25A4%2596%25E0%25A4%2582%25E0%25A4%25A6%25E0%25A4%25B0%2B%25E0%25A4%2595%25E0%25A4%25BE%2B%25E0%25A4%2595%25E0%25A4%25BC%25E0%25A4%25BF%25E0%25A4%25B2%25E0%25A4%25BE - खंदर का क़िला
विवरण‘खंदर का क़िला’ राजस्थान के ऐतिहासिक स्थलों में से एक है। यह ‘रणथंभौर राष्ट्रीय उद्यान’ के पास स्थित है।
राज्यराजस्थान
ज़िलासवाई माधोपुर
स्थितिसवाई माधोपुर शहर से लगभग 40 कि.मी. की दूरी पर।
संबंधित लेखराजस्थान, राजस्थान का इतिहास, रणथंभौर राष्ट्रीय उद्यान
अन्य जानकारीक़िला परिसर में कई मंदिरों के अतिरिक्त दो टैंक और सात तालाबों सहित कुछ जल निकाय हैं।




खंदर का क़िला राजस्थान में सवाई माधोपुर के खंदर तहसील में स्थित है। यह सवाई माधोपुर में पर्यटकों का मुख्य पर्यटन और आकर्षण केन्द्र है। यह प्राचीन क़िला शहर के केन्द्र से लगभग 40 कि.मी. की दूरी पर स्थित है।

  • यह क़िला विश्व प्रसिद्ध वन्यजीव अभयारण्य ‘रणथंभौर राष्ट्रीय उद्यान’ के पास स्थित है।
  • एक खड़ी पहाड़ी पर स्थित क़िले के प्रवेश द्वार पर तीन बडे दरवाज़ें है।
  • इस क़िले के निर्माण को लेकर स्पष्ट रूप से कुछ नहीं कहा जा सकता, लेकिन इतना तय है कि 12वीं शताब्दी में यह क़िला अपनी उन्नति के चरम पर था।
  • इस क़िले का निर्माण प्राचीन भारतीय वास्तुशैली में किया गया है।
  • ख़तरनाक स्थान पर स्थित होने के कारण खंदर के क़िले पर हमलावर सेनाओं द्वारा आसानी से विजय प्राप्त करना बेहद कठिन था।
  • खंदर के क़िले पर शासन करने वाले राजवंशों में से एक मेवाड़ का सिसोदिया वंश था। लेकिन बाद में वे मुग़लों द्वारा उखाड़ फेंके गये। मुग़लों नें उन्हें क़िले पर क़ब्ज़ा करने के लिए हराया।[1]
  • क़िला परिसर के अंदर कई मंदिर हैं, जैसे-
  1. हनुमान मंदिर
  2. चतुर्भुजा मंदिर
  3. रानी मंदिर
  4. गोविन्द देवजी मंदिर
  5. जगतपालजी मंदिर
  6. जयंती माता मंदिर




  • उपरोक्त के अतिरिक्त परिसर के अंदर दो टैंक और सात तालाबों सहित कुछ जल निकाय हैं।

अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमे फेसबुक (Facebook) पर ज्वाइन करे Click Now

error: Content is protected !!