सुक्ष्मकाय – परऑक्सिसोम ग्लाइऑक्सीसॉम्स स्फेरोसोम

सुक्ष्मकाय – परऑक्सिसोम ग्लाइऑक्सीसॉम्स स्फेरोसोम

सुक्ष्मकाय (Microbodies):-

ये पादप कोशिका में एकल झिल्ली वाले छोटे कोशिकांग हैं। इनका निर्माण Endoplasmic Reticulum द्वारा होता हैं।

इनको Rhodin द्वारा खोजा गया था ये प्रोटोजोआ, कवक, पौधे, और यकृत और वृक्क की कोशिकाओं में पाया जाता है।

– परऑक्सिसोम ग्लाइऑक्सीसॉम्स स्फेरोसोम - सुक्ष्मकाय – परऑक्सिसोम ग्लाइऑक्सीसॉम्स स्फेरोसोम
सुक्ष्मकाय – परऑक्सिसोम ग्लाइऑक्सीसॉम्स स्फेरोसोम

सुक्ष्मकाय (Microbodies) चार प्रकार के होते हैं-

  1. परऑक्सिसोम (Peroxisome)
  2. ग्लाइऑक्सीसॉम्स (Glyoxysome)
  3. स्फेरोसोम (Spherosome)
  4. लोमासोम (Lomasome)




परऑक्सिसोम (Peroxisome):-

परऑक्सिसोम यकृत कोशिकाओ में एल्कोहॉल के प्रभाव को दूर करने में मदद करता हैं। इसमें एमिनो एसिड ऑक्सीडेज, हाइड्रॉक्सीयल एसिड ऑक्सीडेज, पेरॉक्सिडेज, कैटालेज एंजाइम पाए जाते हैं। इनमें पाए जाने वाले  catalase एंजाइम H2O2 को विघटित करते है।

जंतु कोशिकाओं में परऑक्सिसोम वसा उपापचय (Fat Metabolism) तथा पेरोक्साइड उपापचय (Peroxide Metabolism) का कार्य करते हैं।

पादप कोशिकाओं में, प्रकाशिकश्वसन (Photorespiration) माइटोकांड्रिया और क्लोरोप्लास्ट के साथ परऑक्सिसोम में होती है।

ग्लाइऑक्सीसॉम्स (Glyoxysome):-

इनको पहली बार हैरी बीवर्स द्वारा देखा गया था। यह कवक और अंकुरित बीज तथा तेलयुक्त बीजो में पाया जाता है। जैसे – केस्टर बीज, मूंगफली बीज, सोयाबीन बीज आदि।

ये  ग्लुकोनिओजेनेसिस (Gluconeogenesis) प्रक्रिया द्वारा कार्बोहाइड्रेट को वसा में परिवर्तित करने का कार्य करते हैं।

ग्लाइऑक्सीसॉम्स में फैटी एसिड या वसा अम्ल को एक्सीटील Co-A में परऑक्सिसोमल β-ऑक्सीकरण एंजाइम द्वारा ऑक्सीकृत किया जाता है। Glyoxylate चक्र में ग्लाइऑक्सीसॉम्स में होता है।

ग्लूऑक्साइलिक एसिड (glyoxylic acid) की वजह से मूंगफली मीठी बन जाती है।

स्फेरोसोम (Spherosome):-

ये एकल झिल्ली वाले छोटे व गोलाकार कोशिकांग हैं। जो लिपिड्स (वसा) को संश्लेषित करने और संग्रहीत करने का कार्य करते हैं।

ये वसा संग्रहीत करने वाली पादप कोशिकाओं में मिलते है लेकिन तेल युक्त बीजों में प्रचुर मात्रा में पाए जाते हैं |

उदाहरण मक्का की मूल शीर्ष (रूट टिप) व तम्बाकू एन्डोस्पर्म (भ्रुणपोष) ।

इसके अलावा ये पादप के लाइसोसोम के रूप में जाना जाता है।

लोमासोम (Lomasome):-

मूर और मैकलेयर द्वारा खोजा गया। कवक और पादप कोशिका की कोशिका भित्ति और प्लाज्मा झिल्ली के बीच पाया जाता है।

यदि यह प्लाज्मा झिल्ली के साथ जुड़ा हुआ होता है तो इन्हें Paramural body के रूप में भी जाना जाता है जिसे plasmalemmasomes कहते है।

सुक्ष्मकाय- परऑक्सिसोम, ग्लाइऑक्सीसॉम्स एव स्फेरोसोम
(Microbodies- peroxisomes, Glyoxisome and spherosome)
सुक्ष्मकाय- परऑक्सिसोम, ग्लाइऑक्सीसॉम्स एव स्फेरोसोम

Biology Notes in Hindi

अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमे फेसबुक(Facebook) पर ज्वाइन करे Click Now

error: Content is protected !!