Geography GK

राजस्थान में मीठे पानी की प्रमुख झीलें और ट्रिक्स

राजस्थान में मीठे पानी की प्रमुख झीलें और ट्रिक्स




राजस्थान में मीठे पानी की प्रमुख झीलें और ट्रिक्स
राजस्थान में मीठे पानी की प्रमुख झीलें और ट्रिक्स



  • जयसमन्द झील – यह राजस्थान के मीठे पानी की सबसे बड़ी झील है। यह उदयपुर जिले में स्थित है तथा इसका निर्माण राजा जयसिंह ने 1685-1691 ई० में गोमती नदी पर बाँध बनाकर करवाया गया  था। यह बाँध  375  मी. लंबा और 35 मीटर ऊँचा है। यह झील लगभग 15 किमी लंबी और 8 किलोमीटर चौड़ी है। यह उदयपुर से 51 किमी दूर दक्षिण-पूर्व में स्थित है। इसमें करीब 8 टापू हैं जिसमें भील एंव मीणा जाति के लोग रहते हैं इस झील से श्यामपुर तथा भाट नहरे बनाई गई हैं। इन नहरों की लंबाई क्रमश: 324 किलोमीटर और 125 किमी है।
  • राजसमन्द – यह उदयपुर से 64 किलोमीटर दूर कांकरौली स्टेशन के पास स्थित है। यह 6.5 किलोमीटर लंबी और 3 किलोमीटर चौड़ी है। इस झील का निर्माण 1662 ई० में उदयपुर के महाराणा राजसिंह के द्वारा कराया गया। इसका पानी पीने एंव सिचाई के काम आता है। इस झील का उत्तरी भाग नौ चौकी के नाम से विख्यात है जहां संगमरमर की 25 शिला लेखों पर मेंवाड़ का इतिहास संस्कृत भाषा में अंकित है।
  • पिछोला झील – यह उदयपुर की सबसे प्रसिद्ध झील है। इसके बीच में स्थित दो टापूओं पर जगमंदिर और जगनिवास दो सुन्दर महल बने हैं। इन महलों का प्रतिबिंब झील में पड़ता है। इस झील का निर्माण राणा लाखा के शासन काल में एक बंजारे ने 14 वीं शताब्दी के अंत में करवाया था। बाद में इसे उदय सिंह ने इसे ठीक करवाया। यह झील लगभग 7 किलोमीटर चौड़ी है।

अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमे फेसबुक (Facebook) पर ज्वाइन करे Click Now

  • आनासागर झील – 1137 ई० में इस झील का निर्माण अजमेर के जमींदार आना जी के द्वारा कराया गया। यह अजमेर में स्थित है। यह दो पहाड़ियों के बीच में बनाई गई है तथा इसकी परिधि 12 किलोमीटर है। जहाँगीर ने यहाँ एक दौलत बाग बनवाया तथा शाहजहाँ के शासन काल में यहां एक बारादरी का निर्माण हुआ। पूर्णमासी की रात को चांदनी में यह झील एक सुंदर दृश्य उपस्थित करती है।
  • नक्की झील – यह एक प्राकृतिक झील है तथा यह माउंट आबू में स्थित है। यह झील लगभग 35 मीटर गहरी है। यह झील का कुल क्षेत्रफल 9 वर्ग किलोमीटर है। यह अपनी प्राकृतिक सुंदरता के कारण पर्यटकों का मुख्य केन्द्र है।
  • फाई सागर – यह भी एक प्राकृतिक झील है और अजमेर में स्थित है। इसका पानी आना सागर में भेज दिया जाता है क्योंकि इसमें वर्ष भर पानी रहता है।
    • पुष्कर झील यह अजमेर से 11 किलोमीटर दूर पुष्कर में स्थित हैं। इस झील के तीनों ओर पहाड़ियाँ है तथा इसमें सालों भर पानी भरा रहता है।
    • सिलीसेढ़ झील यह एक प्राकृतिक झील है तथा यह झील दिल्ली-जयपुर मार्ग पर अलवर से 12 किलोमीटर में स्थित है।
    • बालसमन्द झील यह झील जोधपुर के उत्तर में स्थित है तथा इसका पानी पीने के काम में आता है।




  • कोलायत झील यह झील कोलायत में स्थित है जो बीकानेर से ४८ किलोमीटर दक्षिण-पश्चिम में स्थित है। यहां कपिल मुनि का आश्रम है तथा हर वर्ष कार्तिक पूर्णिमा के दिन मेला लगता है।
  • फतह सागर यह पिछोला झील से १.५ किलोमीटर दूर है। इसका निर्माण राणा फतह सिंह ने कराया था। यह पिछोला झील से निकली हुई एक नहर द्वारा मिली है।
  • उदय सागर यह उदयपुर से १३ किलोमीटर दूर स्थित है। इस झील का निर्माण उदयसिंह ने कराया था।

अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमे फेसबुक (Facebook) पर ज्वाइन करे Click Now

राजस्थान में मीठे पानी की प्रमुख झीले और ट्रिक्स {Freshwater Keys and Tricks in Rajasthan}

बापू कौन रसिपी आज फउफा(फूफा) को (बताओ)?
स्पष्टीकरण :-




S.N.

Trick

झील- जिला

1 बा बालसमंद- जोधपुर
2 पू पुष्कर- अजमेर
3 कौ कोलायत- बीकानेर
4 नक्की- सिरोही
5 रा राजसमंद- राजसमंद
6 सी सिलिसेढ- अलवर
7 पी पिछौला- उदयपुर
8 आनासागर- अजमेर
9 जयसमंद- उदयपुर
10 फतेहसागर- उदयपुर
11 उदयसागर- उदयपुर
12 फा फायसागर- अजमेर
13 का कायलाना- जोधपुर




अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमे फेसबुक(Facebook) पर ज्वाइन करे Click Now