भारत के प्रमुख शेयर बाजार

भारत के प्रमुख शेयर बाजार/Important Share Markets in India:-

राष्ट्रीय शेयर बाजार (National Stock Exchanges)– राष्ट्रीय शेयर बाजार की स्थापना 1992 को हुई. इसकी सिफारिश 1991 में फेर्वानी समिति (M J Pherwani Committee) ने की थी. इसका मुख्यालय दक्षिण मुंबई वर्ली में है.




बॉम्बे स्टॉक एक्सचेंज (BSE)– यह एशिया का सबसे पुराना स्टॉक एक्सचेंज है. इसकी स्थापना 1875 ई. में स्टॉक एक्सचेंज मुंबई के नाम से की गई थी जिसे 2002 में बदलकर बॉम्बे स्टॉक एक्सचेंज (BSE) कर दिया गया.

ओवर दी काउंटर एक्सचेंज ऑफ़ इंडिया (OTCEI)– इसकी स्थापना नवम्बर, 1992 में मुंबई में की गयी. इसकी स्थापना भारत में सर्वप्रथम ऑनलाइन ट्रेडिंग सुविधा सम्पन्न Computerized Exchange के रूप में हुई. इसकी अवधारणा  USA के स्टॉक एक्सचेंज “NASDAQ” के आधार पर की गयी. जिन लघु या मध्यम औद्योगिक इकाइयों  का पूँजी स्तर 30 लाख रु. से 25 करोड़ रु. हो, उन्हीं को OTCEI में सूचीबद्ध किया जाता है.

कुछ महत्त्वपूर्ण तथ्य:-Some Important Facts

1. विश्व का सबसे पहला संगठित शेयर बाजार वर्ष 1602 में Amsterdam, Netherlands में स्थापित किया गया था.

2. भारत में National Commodity & Derivatives Exchange Ltd. (NCDEX) ने कृषिगत उत्पादों (agricultural products) के लिए NCDEXAGRI नामक सूचकांक (Index) 3 मई, 2005 को शुरू किया. यह सूचकांक देश का पहला Commodity Index है.

3. ग्रीनेक्स (GREENEX) देश का पहला पर्यावरण अनुकूल शेयर मूल्य सूचकांक है जिसे देश में हरित निवेश को बढ़ावा (to promote green investment) देने के लिए शुरू किया गया है.

4. रेजिडेक्स (RESIDEX) राष्ट्रीय आवास बैंक (NHB) द्वारा 11 जुलाई, 2007 को लागू किया गया. जमीन की खरीद-बिक्री में अक्सर बेईमानी होती है. कालाबाजारी की निगरानी और रोकथाम के लिए इस इंडेक्स को लांच किया गया.

विश्व के प्रसिद्ध शेयर बाजारों के प्रमुख शेयर मूल्य सूचकांक/Important Stock Price Index in the World Share Market

भारत के प्रमुख शेयर मूल्य सूचकांक/ Important Stock Price Indices in India

BSE SENSEX–यह मुंबई स्टॉक एक्सचेंज (The Stock Exchange Mumbai) का संवेदी शेयर सूचकांक है. यह 30 प्रमुख शेयरों का प्रतिनिधित्व करता है. इसका आधार वर्ष 1978-79 है.
BSE 200–यह मुंबई स्टॉक एक्सचेंज के 200 शेयरों का प्रतिनिधित्व करता है. इसका आधार वर्ष 1989-90 ई. है. इसका नाम BSE 200 इसलिए है क्योंकि इसमें 200 कंपनी रजिस्टर्ड हैं.
DOLLEX- BSE 200 BSE 200 सूचकांक का ही डॉलर मूल्य सूचकांक डॉलेक्स (DOLLEX) कहलाता है. इसका आधार वर्ष 1989-90 ई. है.
NSE-50राष्ट्रीय स्टॉक एक्सचेंज (NSE) दिल्ली से सम्बंधित इस सूचकांक का नाम बदलकर S & P CNX Nifty रखा गया है.

Important Timeline of Indian Capital Market

  1. बॉम्बे सिक्योरिटीज कॉन्ट्रैक्ट कण्ट्रोल एक्ट 1925 के अंतर्गत BSE को मई 1927 में मान्यता मिली.
  2. 1957 में BSE पहला भारतीय स्टॉक एक्सचेंज हुआ जिसे स्थाई रूप से मान्यता मिली.
  3. जनवरी 2, 1986 में आधार वर्ष (base year) 1978-79 के साथ प्रथम स्टॉक मार्केट इंडेक्स के रूप में BSE सेंसेक्स इंडेक्स चालू किया गया.
  4. अप्रैल, 1988 में Securities & Exchange Board of India (SEBI) की स्थापना हुई.
  5. जनवरी, 1992 को सेबी को वैधानिक शक्ति प्रदान की गयी.
  6. मई 27, 1992 में GDR निर्गमित करने वाली Reliance भारत की पहली कंपनी हुई.
  7. सितम्बर, 1992 में विदेशी संस्थागत निदेशकों (FII) को प्रतिभूति बाजार में निवेश करने की अनुमति मिली.
  8. 1994 में UTI को प्रथम निजी क्षेत्रीय बैंक (first private bank) के रूप में स्थापित किया गया जिसका पंजीकृत कार्यालय अहमदबाद में है. UTI का ही नया नाम Axis Bank है.
  9. अप्रैल, 1996 में निफ्टी (NIFTI) आई जिसमें 50 स्टॉक लिस्टेड हैं.
  10. नवम्बर, 1988 में National Securities Depository Ltd. की स्थापना हुई.
  11. मार्च 11, 1999 में NASDAQ में लिस्ट होने वाली प्रथम भारतीय कंपनी Infosys Technologies बनी (First Indian company listed in NASDAQ)



  12. सितम्बर, 1999 में ICICI न्यूयॉर्क स्टॉक एक्सचेंज (NYSE) में लिस्ट होने वाली पहली भारतीय कंपनी बनी (First Indian company listed in NYSE).
  13. अप्रैल, 2000 को भारत में इन्टरनेट ट्रेडिंग (Internet Trading) शुरू हुई.

अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमे फेसबुक (Facebook) पर ज्वाइन करे Click Now

error: Content is protected !!