सरकारी स्कूल में परीक्षाओं के बीच वार्षिकोत्सव का अड़ंगा, बच्चों की पढ़ाई पूरी तरह से बाधित

सरकारी स्कूल में परीक्षाओं के बीच वार्षिकोत्सव का अड़ंगा, बच्चों की पढ़ाई पूरी तरह से बाधित

जैसलमेर: शिक्षा विभाग द्वारा पहले प्रदेश भर की आदर्श विद्यालयों में वार्षिकोत्सव जनवरी के अंतिम सप्ताह में मनाने की योजना थी. लेकिन इसके बीच पंचायती राज चुनाव आने के कारण शिक्षा विभाग ने इसे चुनाव बाद तक टाल दिया. लेकिन अब प्रदेश के अन्य जिलों में कुछ पंचायतों तथा पूरे जैसलमेर जिले में पंचायती राज के चुनाव फिलहाल स्थगित हो गए है. जिससे अब जैसलमेर में पंचायती राज चुनाव के बाद ही स्कूलों में वार्षिकोत्सव मनाए जाएंगे. लेकिन विद्यार्थियों के यह वार्षिकोत्सव परेशानी का सबब बने हुए है.

कई स्कूलों में कोर्स भी अधूरा चल रहा:
पंचायती राज के चुनाव के बाद वार्षिकोत्सव या तो परीक्षा से ठीक पहले होंगे या परीक्षा के बीच में. जिससे बच्चों की पढ़ाई पूरी तरह से बाधित हो जाएगी. इसके साथ ही कई स्कूलों में कोर्स भी अधूरा चल रहा है. सभी पंचायतों पर चुनाव के लिए स्टे आने से शिक्षकों के लिए भी दुविधा हो गई है. एक तरफ शिक्षकों को कोर्स पूरा करवाने का टेंशन है तो वहीं दूसरी तरफ शिक्षकों को पंचाती चुनाव भी करवाने है. इसके साथ ही आगामी वार्षिकोत्सव व परीक्षा भी आने वाली है. जिससे जैसलमेर के शिक्षक पूरी तरह से असमंजस की स्थिति में है. जैसलमेर की 10वीं, 12वीं तथा 5वी कक्षाओं की परीक्षाओं की तारीखें तय हो चुकी है. जिससे यह तय है कि परीक्षा से पहले शिक्षकों में कोर्स पूरा करवाने का प्रेशर रहेगा.

विद्यार्थियों में भी कोर्स के बाद रिवीजन व परीक्षा की तैयारी करने का टेंशन:
वहीं विद्यार्थियों में भी कोर्स के बाद रिवीजन व परीक्षा की तैयारी करने का टेंशन रहेगा. अब शिक्षा विभाग द्वारा वार्षिकोत्सव कब आयोजित करवाएं जाने है. उस पर विद्यार्थियों की परेशानी तय होती है. जैसलमेर की सभी 140 ग्राम पंचायत मुख्यालय पर आदर्श योजना के तहत विद्यालयों का चयन किया गया है. इसके साथ ही सभी ग्राम पंचायतों में एक विद्यालय का चयन उत्कृष्ट विद्यालय के रूप में भी किया गया है. जिससे जैसलमेर में 140 आदर्श व 140 उत्कृष्ट विद्यालय है. फिलहाल शिक्षा विभाग द्वारा इन्हीं स्कूलों में वार्षिकोत्सव मनाने की तैयारी है.

शिक्षकों के साथ ही बच्चों को विशेष परेशानी का सामना करना पड़ेगा:
अब शिक्षा विभाग के अधिकारियों द्वारा यह अंदेशा जताया जा रहा है कि वार्षिकोत्सव या तो परीक्षाओं से ठीक पहले होंगे या चलती परीक्षा के बीच में. जिससे शिक्षकों के साथ ही बच्चों को विशेष परेशानी का सामना करना पड़ेगा. वहीं अधूरा कोर्स भी बच्चों के लिए परीक्षा में परेशानी पैदा कर रहा है. बच्चों व शिक्षकों की इस परेशानी के लिए शिक्षा विभाग द्वारा जैसलमेर में पहले तय कार्यक्रम में वार्षिकोत्सव करवाएं जा सकते है. जैसलमेर की सभी पंचायतों में फिलहाल पंचायती राज चुनाव स्थगित हो गए है. जिस पर शिक्षा विभाग के उच्चाधिकारियों द्वारा जैसलमेर में जनवरी माह में ही वार्षिकोत्सव संपन्न करवाया जा सकता है. जिससे बच्चों व शिक्षकों की परेशानी खत्म हो जाएगी.