वर्षा के Types, Reasons, Measurement और Distribution

वर्षा के Types, Reasons, Measurement और Distribution वर्षा (Rain) के लिए दो बातों का होना अत्यंत आवश्यक है – वायु में पर्याप्त जलवाष्प का होना और ऐसे साधन का होना जिससे वाष्पयुक्त वायु ठंडी होकर घनीभूत (condensate) हो सके. आज हम वर्षा के विषय विस्तृत जानकारी (information) आपको देने वाले हैं. आज हम इस लेख में पढेंगे […]

Continue Reading

वायुभार

वायुभार वायुभार की माप (MEASUREMENT OF PRESSURE) वायुभार एक विशेष प्रकार के यंत्र से नापा जाता है और यह इंचों में या मिलीबार में (1000 mb=29.53 inches) लिया जाता है. इस यंत्र को वायुभारमापक यंत्र या वायुभारमापी (Barometer) कहते हैं. समुद्रतल पर औसत वायुभार 29.9 inch रहता है. वायुभार को प्रभावित करने वाले करक (FACTORS […]

Continue Reading

अटलांटिक महासागर की जलधाराएँ

अटलांटिक महासागर की जलधाराएँ अटलांटिक महासागर की जलधाराएँ (Currents of the Atlantic Ocean) के नाम इस प्रकार हैं अंटार्कटिक प्रवाह या ड्रिफ्ट (Atlantic Drift) बेंगुएला जलधारा (Benguela Current) दक्षिण विषुवतरेखीय जलधारा (South Equatorial Current) ब्राजील जलधारा (Brazil Current) गल्फ स्ट्रीम (Gulf Stream) उत्तरी अतलांटिक प्रवाह (North Atlantic Drift) कैनेरी जलधारा (Canary Current) उत्तर विषुवतरेखीय जलधारा […]

Continue Reading

महासागर के भौगोलिक प्रदेश

महासागर के भौगोलिक प्रदेश महादेशीय निधाय (CONTINENTAL SHELF) Continental Shelf यद्यपि समुद्र से सम्बन्ध रखता है पर यह अन्य दो प्रदेशों की अपेक्षा स्थल के अधीन समान और समीप है. इसकी गहराई साधारणतया 600 ft. से अधिक नहीं होती. पर्वतीय तटों पर यह कुछ ही फुट चौड़ा पर समतल मैदानी तटों के निकट सैकड़ों मील […]

Continue Reading

शेल और शेल गैस का निर्माण

शेल और शेल गैस का निर्माण शेल और शेल गैस क्या हैं? शेल बारीक कण वाली तलछटी चट्टाने हैं जो पेट्रोलियम और प्राकृतिक गैस के समृद्ध स्रोत होती हैं. शेल गैस वह प्राकृतिक गैस (natural gas) है जो शेल चट्टानों के बीच फंसी होती है. सामान्य प्राकृतिक गैस और शेल गैस के निर्माण में अंतर […]

Continue Reading

प्रशांत महासागर की धाराएँ – Pacific Ocean Currents in Hindi

प्रशांत महासागर की धाराएँ – Pacific Ocean Currents in Hindi उत्तरी विषुवतरेखीय धारा यह एक गर्म धारा है. यह धारा उत्तरी-पूर्वी व्यापारिक पवनों के चलते मध्य अमेरिका के तट से होते हुए पश्चिम में फिलिपिन्स द्वीप की ओर चली जाती है. यहाँ (फिलिपिन्स द्वीप) इस धारा की दो शाखाएँ (branches) हो जाती हैं. प्रथम शाखा […]

Continue Reading

भौगोलिक प्रश्नोत्तर: GEOGRAPHY

भौगोलिक प्रश्नोत्तर: GEOGRAPHY प्रश्न: मेडागास्कर की खोज कब और किसने की थी? उत्तर: मेडागास्कर की खोज सन् 1500 में पुर्तगाली नाविक डियोगो दिआस (Diogo Dias) ने की थी. प्रश्न: पृथ्वी की उत्पत्ति से सम्बंधित नीहारिका परिकल्पना का प्रतिपादन कब और किसने किया? उत्तर: पृथ्वी की उत्पत्ति से सम्बंधित नीहारिका परिकल्पना (Nebular Hypothesis) का प्रतिपादन सन 1796 में […]

Continue Reading

फसलों के लिए उपयुक्त तापमान, वर्षा और मिट्टी

फसलों के लिए उपयुक्त तापमान, वर्षा और मिट्टी खाद्यान फसलों में चावल, गेहूँ, ज्वार, बाजरा, मक्का, राई, जौ, जई और अन्य प्रकार के मोटे अनाज शामिल हैं. पेय फसलों में चाय, कहवा, और कोको, रेशेदार फसलों में कपास, जूट, सनई, पटुआ और हेम्प शामिल हैं. औद्योगिक फसलों में गन्ना, रबड़ और तम्बाकू सम्मिलित हैं. आशा है कि आपको suitable temperature, rainfall and soil […]

Continue Reading

प्रथ्वी की सरचना

प्रथ्वी की सरचना The structure of the community प्रमाणों के अनुसार प्रथ्वी का जन्म लगभग 4.5 अरब वर्ष पूर्व सौर नेबुला से हुआ था | सूर्य से प्रथक होने के तुरन्त पश्चात प्रथ्वी उबलते द्रव से बने गोले की तरह रही होगी और बहुत समय तक इसका अधिकतर भाग तरल ही रहा होगा | प्रथ्वी की […]

Continue Reading
rajasthan police

Rajasthan Police Indian GK online test

Rajasthan Police Indian GK online test Rajasthan Police Online Test in Hindi, Rajasthan Police GK Indian Politics Free Mock Test. GK Test in Hindi. Rajasthan Police exam General Knowledge Online Test in Hindi. Rajasthan Police exam Quiz 2017. The Rajasthan Police paper set 1 Full online mock test paper is free for all students. Important […]

Continue Reading

राजस्थान के प्रमुख तालाब

राजस्थान के प्रमुख तालाब (Major ponds of Rajasthan) राजस्थान के प्रमुख तालाबों के नाम और उनकें स्थान के बारे में यहाँ इस टेबल में बताया गया है| राजस्थान के प्रमुख तालाब तालाब  स्थान  हेमावास  पाली दांतीवाड़ा  पाली खरड़ा  पाली मुथाना  पाली सरेरी  भीलवाड़ा  खारी  भीलवाड़ा मेजा  भीलवाड़ा वानकिया  चित्तोड़गढ़  मुरलिया  चित्तोड़गढ़ सेनापानी  चित्तोड़गढ़ बागोलिया  उदयपुर  […]

Continue Reading

राजस्थान के प्रमुख पशु एवं उनकी नस्लें

राजस्थान के प्रमुख पशु एवं उनकी नस्लें  भारत में प्रथम पशुगणना 1919 में आयोजित की गई। तब राज्य की कुछ रियासतों ने भी पशुगणना करवाई। राजस्थान में कुल पशु – 5.77 करोड़ सबसे ज्यादा पशुधन -बाडमेर सबसे कम पशुधन- धौलपुर वर्ष 2012 की पशु गणना के अनुसार राज्य में पशु घनत्व 169 है। वर्ष 2012 […]

Continue Reading

राजस्थान की शाकम्भरी रियासत

राजस्थान की शाकम्भरी रियासत राजस्थान की शाकम्भरी रियासत शाकम्भरी रियासत के संस्थापक चौहान शासक थे। शाकम्भरी रियासत की प्रारम्भिक राजधानी अहिछत्रपुर थी जो वर्तमान नागौर है। चौहान शासक वासुदेव को सांभर झील का प्रवर्तक माना जाता है। वासुदेव के द्वारा ही सांभर की स्थापना की गई। 1113 ई0 में अजयराज चौहान के द्वारा अजमेर नगर […]

Continue Reading

भारत की प्रमुख फसलें एवं उत्पादक राज्य

भारत की प्रमुख फसलें एवं उत्पादक राज्य   राजस्थान में विभिन्न फसलें मक्का – मक्का में दोनों मांडी ( स्टार्च ) , ग्लूकोज तथा एल्कोहाल तैयार की जाती है | राज्य का सम्पूर्ण देश में मक्का बोये जाने वाले क्षेत्रफल की दृष्टि से पर्थम एवं उत्पादन उत्पादन की दृष्टि से छठा स्थान है | राजस्थान […]

Continue Reading

राजस्थान की प्रमुख फसलें सर्वाधिक क्षेत्रफल और उत्पादन के आधार पर

राजस्थान की प्रमुख फसलें Major crops of Rajasthan राज्य कृषि उद्योग निगम लि. 1969 में गठित राजस्थान राज्य कृषि विपणन बोर्ड 1974 में गठित राजस्थान भूमि विकाश निगम – 1975 कृषि विपणन निदेशालय – 1980 राष्ट्रीय कृषि विपणन संस्थान – 1980 ( जयपुर) राजस्थान की प्रमुख फसलें सर्वाधिक क्षेत्रफल और उत्पादन के आधार पर:- सर्वाधिक […]

Continue Reading

कृषि से संबंधित योजनाऐं

राजस्थान में कृषि से संबंधित योजनाऐं Agriculture related schemes 1.भागीरथ योजना कृषि संबंधित इस योजना के अन्तर्गत स्वयं ही खेती में ऐसे लक्ष्य निर्धारित करता है। जो कठिन होता हैं और उन लक्ष्यों को प्राप्त करने में प्रयत्न भी करते है। इसके लिए जयपुर में विशेष प्रशिक्षण दिया जाता है। 2.निर्मल ग्राम योजना गांवो में कचरे […]

Continue Reading

राजस्थान में कृषि Agriculture in Rajasthan

राजस्थान में कृषि (Agriculture in Rajasthan) राजस्थान का कुल क्षेत्रफल 3 लाख 42 हजार 2 सौ 39 वर्ग कि.मी. है। जो की देश का 10.41 प्रतिशत है। राजस्थान में देश का 11 प्रतिशत क्षेत्र कृषि योग्य भूमि है और राज्य में 50 प्रतिशत सकल सिंचित क्षेत्र है जबकि 30 प्रतिशत शुद्ध सिंचित क्षेत्र है। राजस्थान का […]

Continue Reading

राजस्थान की झीलें जिलानुसार 

 राजस्थान की झीलें जिलानुसार जिला झीलें/बांध जानिये कोनसे जिले में कोनसी झील है और यदि आप खारे और मीठे पानी की झीलों के लिये आप Search Box में search कर सकते है |  अजमेर – आना सागर, फाई सागर, पुष्कर, नारायण सागर बांध अलवर – राजसमन्द, सिलीसेढ़ बाँसवाड़ा – बजाज सागर बांध, कहाणा बांध भरतपुर – शाही बांध, बारेण बांध, […]

Continue Reading

राजस्थान में खारे पानी की झीले

राजस्थान में खारे पानी की झीले और ट्रिक्स (Tricks) 1. साँभर झील – यह राजस्थान की सबसे बड़ी झील है। यहाँ उत्पादित नमक उत्तम किस्म का होता है। यहाँ राज्य के कुल उत्पादन का 80 प्रतिशत नमक उत्पन्न किया जाता है। इसका अपवाह क्षेत्र लगभग 500 वर्ग किमी में फैला है जिसमे रूपनगढ़, खारी व […]

Continue Reading
rajasthan Question

राजस्थान इतिहास के महत्वपूर्ण प्रश्नोत्तर SET 1

राजस्थान इतिहास के महत्वपूर्ण प्रश्नोत्तरी SET 1 राजस्थान में होने वाली सभी एग्जाम के लिए महत्वपूर्ण प्रश्नोत्तर है इस टेबल में 100 प्रश्नोत्तर है जो सभी हिंदी में है और यदि आप यह नोट्स अपने Email पर पाना चाहते है तो Email subscribe करे और फेसबुक के लिए पेज को लाइक करे Like 1 महाराणा प्रताप का […]

Continue Reading

राजस्थान का परिचय

राजस्थान का परिचय नामकरण :- वाल्मीकि ने राजस्थान प्रदेश को ‘मरुकान्तार’ कहा है। राजपुताना शब्द का सर्वप्रथम प्रयोग 1800 ई. में जोर्ज थोमसन ने किया। विलियम फ्रेंकलिन ने 1805 में ‘मिलिट्री मेमोयर्स ऑफ़ मिस्टर जोर्ज थोमसन’ नामक पुस्तक प्रकाशित की। उसमे उसने  कहा कि जोर्ज थोमसन संभवत: पहला व्यक्ति था, जिसने राजपुताना शब्द का प्रयोग […]

Continue Reading

राजस्थान दक्षिणी पूर्वी पठार

राजस्थान दक्षिणी पूर्वी पठार राजस्थान दक्षिणी पूर्वी पठार:- यह मालवा के पठार का ही एक भाग है तथा चम्बल नदी के सहारे पूर्वी भाग में विस्तृत है। पठारी क्षेत्र राज्य  का लगभग 9.3% भाग आता है लेकिन दक्षिण पूर्वी पठारी प्रदेश 7% के लगभग ही है। जिसमे 11% जनसंख्या निवास करती है। क्षेत्र – कोटा,बूंदी,झालावाड़,बांरा […]

Continue Reading

राजस्थान पूर्वी मैदान क्षेत्र

राजस्थान पूर्वी मैदान क्षेत्र राजस्थान पूर्वी मैदान क्षेत्र:-   यह मैदानी भाग अरावली पर्वतमाला के पूर्व में स्थित है| इस मैदान का उत्तरी पूर्वी भाग गंगा-यमुना के मैदानी भाग से मिला हुआ है। इसका ढाल पूर्व की ओर है| इसका क्षेत्रफल राज्य का लगभग 23.3% है। क्षेत्र – जयपुर,भरतपुर,दौसा,सवाईमाधोपुर,धोलपुर,करोली,टोंक,अलवर व अजमेर के कुछ भाग तथा बांसवाडा […]

Continue Reading

राजस्थान मध्यवर्ती पहाड़ी प्रदेश

राजस्थान मध्यवर्ती पहाड़ी प्रदेश क्षेत्रफल – राज्य के भूभाग का लगभग 9.3% पर पहाड़ी प्रदेश है। लेकिन 8.6% के लगभग भाग पर मुख्य अरावली पर्वतमाला विस्तृत है| क्षेत्र – उदयपुर, चित्तोडगढ, राजसमन्द, डूंगरपुर, भीलवाड़ा, सीकर, झुंझनु, अजमेर, सिरोही, अलवर तथा पाली व जयपुर के कुछ भाग। जनसंख्या- राज्य की लगभग 10%।   वर्षा – 50 सेमी से 90 सेमी। […]

Continue Reading