rajasthan Question
GK History

राजस्थान इतिहास के महत्वपूर्ण प्रश्नोत्तरी SET 3

राजस्थान इतिहास के महत्वपूर्ण प्रश्नोत्तरी SET 3

राजस्थान में होने वाली सभी एग्जाम के लिए महत्वपूर्ण प्रश्नोत्तर है इस टेबल में 201-300 प्रश्नोत्तर है जो सभी हिंदी में है और यदि आप यह नोट्स अपने Email पर पाना चाहते है तो Email subscribe करे और फेसबुक के लिए पेज को लाइक करे Like



201 ‘पाथल व पीथल’ कविता के रचनाकार चूरू के कन्हैयालाल सेठिया
202 हाड़ी रानी कहाँ की थी सलुम्बर (उदयपुर) के चुण्डावत सरदार की पत्नी
203 चारुमती किशनगढ़ (अजमेर) की राजकुमारी थी जिसका विवाह औरंगजेब के साथ तय हो रखा था तथा राजसमन्द के राजा राजसिंह ने अपहरण कर विवाह किया
204 पृथ्वीराज चौहान तृतीय के माता व पिता का नाम माता-कर्पूरी देवी / कमला देवी, पिता सोमेश्वर चौहान
205 राठौड़ शब्द की उत्पत्ति किस शब्द से हुई है राष्ट्र कूट
206 रावसीहा किसका पड्पौत्र था ? कन्नौज के जयचंद गहड़वाल का
207 ‘पृथ्वीराज रासो’ को पूरा करने वाला चंदवरदाई का पुत्र जल्हण
208 ‘वंश भास्कर’ को पुरा करने वाला सूर्यमल्ल मिश्रण का पुत्र मुरारीदान
209 कवि बान्धव अजमेर के बीसलदेव (विग्रहराज चतुर्थ) की उपाधि
210 ‘ललित विग्रहराज’ ग्रन्थ के रचयिता सोमदेव
211 हमीर देव चौहान की पत्नी का नाम रंगदेवी
212 मड़ोर को मारवाड़ की राजधानी किस राठौड़ राजा ने बनाया राव चूंड़ा राठौड़
213 राणा लाखा की वृद्धावस्था में विवाह जोधपुर की राजकुमारी हंसाबाई (राव चूंड़ा की पुत्री) के साथ
214 हशमत वाला शासक फारखी इतिहासकारों ने जोधपुर के राजा मालदेव को कहा
215 1570 का अकबर दरबार नागौर में लगा
216 मारवाड़ का भूला बिसरा नायक राव चंद्रसेन
217 मारवाड़ का प्रताप राव चंद्रसेन
218 अबुल फजल कहाँ का था नागौर का
219 अकबर के नवरत्न में शामिल राजस्थानी भगवंत दास (जयपुर), मानसिंह (जयपुर), अबुल फजल (नागौर)
220 इन्द्रकुंवरी जोधपुर के राजा अजीतसिंह की पुत्री, जिसका विवाह मुग़ल बादशाह फर्रुखशियर से हुआ।
221 दुर्गादास राठौड़ की छतरी उज्जैन में (मध्यप्रदेश)
222 महाराणा प्रताप की छतरी चावण्ड के पास बाण्डोली गाँव में  8 खम्भों की छतरी (उदयपुर)
223 जोधपुर के राजाओं की छतरियाँ मण्डोर की छतरी
224 जयपुर के राजाओं की छतरियाँ गैटोर की छतरियाँ (नाहरगढ़, जयपुर)
225 कोटा के राजाओं की छतरियाँ क्षारबाग की छतरियाँ
226 बूंदी के राजाओं की छतरियाँ केसरबाग की छतरियाँ
227 उदयपुर के राजाओं की छतरियाँ महासतियाँ, आहड़ के पास गंगों गाँव (उदयपुर)
228 जैसलमेर के राजाओं की छतरियाँ बड़ा बाग़ की छतरियाँ
229 बीकानेर के राजाओं की छतरियाँ देवकुण्ड की छतरियाँ
230 जहाँगीर (सलीम) की माँ आमेर की हरका बाई
231 शाहजहाँ (खुर्रम) की माँ जोधपुर की जगतगुंसाई
232 खुसरों की माँ जयपुर की मनभावनी/सुल्तान निस्सा
233 उदयसिंह किसकी सहायता से चित्तोड़ का राजा बना जोधपुर के राजा मालदेव की सहायता से
234 रणमल की हत्या कहाँ हुई चित्तोडगढ़ में राणा कुम्भा के कहने पर
235 शाहजहाँ के साले सलावत खां की हत्या नागौर के अमरसिंह राठौड़ ने की
236 पहौबा का युद्ध 1541 ई. में जोधपुर के राजा मालदेव ने बीकानेर के राजा राव जैतसी को हराया।
237 ‘राव जैतसी रो छन्द’ के रचयिता बिठू सूजा
238 कच्छवाह वंश की राजधानी आमेर को किसने बनाया कोकिल देव ने, 1207 ई. में आमेर के मीणाओं को हराकर
239 मानसिंह की ‘फर्जन्द’ की उपाधि किसने दी अकबर ने, फर्जन्द का अर्थ है पुत्र
240 कुलपति मिश्र किसका दरबारी था ? यह बिहारी का भांजा था, जिसने 52 से अधिक ग्रंथों की रचना की तथा बिहारी की ही भांति मिर्जा राजा जयसिंह का दरबारी कवि
241 ईसरलाट जिसे सरगासूली भी कहते है, 1747 ई. के राजमहल युद्ध (टोंक) में माधोसिंह की संयुक्त सेना को हराने के उपलक्ष पर जयपुर के महाराजा ईश्वरीसिंह द्वारा निर्मित
242 हवामहल किसने बनवाया 1799 ई. में सवाई प्रतापसिंह ने, जिसकी पाँच मंजिले है – 1 शरद मंदिर, 2 रत्न मंदिर, 3 विचित्र मंदिर, 4 प्रकाश मंदिर, 5 हवा मंदिर। हवामहल के 953 झरोखें व 353 खिड़कियाँ है।
243 जयपुर को गुलाबी रंग से किसने रंगवाया सवाई रामसिंह द्वितीय ने (1835-1880 के दौरान)
244 सबसे बड़ा चाँदी का पात्र जयपुर के सिटी पैलेस (चन्द्रमहल) में
245 सबसे बड़ी पगड़ी बागोर की हवेली (उदयपुर) में
246 एक जैसे 9 महल नाहरगढ़ दुर्ग (जयपुर) में, माधोसिंह ने अपनी 9 पासवानों के लिए बनवाए
247 सवाई जयसिंह का वास्तविक नाम विजयसिंह
248 सिवाणा का युद्ध 1307-08, अलाउद्दीन खिलजी ने शीतलदेव को हराकर सिवाणा दुर्ग का नाम खैराबाद रख दिया
249 जालौर का युद्ध 1311-12, अलाउद्दीन खिलजी ने कान्हाडदे सोनगरा को हराकर जालौर का नाम जलालाबाद रख दिया।
250 खातौली का युद्ध 1517 ई. में., बूंदी में राणा सांगा ने इब्राहीम लोदी को हराया।
251 गागरोन (झालावाड़) का युद्ध 1519 ई. में, राणा सांगा ने महमूद खिलजी द्वितीय को हराया।
252 ‘राज विनोद’ के रचयिता सदाशिव भट्ट, (16 वीं सदी के सामाजिक स्वरूप के बारे में)
253 ‘राज वल्लभ’ के रचयिता मंडन मिश्र (15 वीं सदी की स्थापत्य कला के बारे में)
254 चंवरी कर कब व किसने 1903 ई. में कन्या के विवाह पर वधू पक्ष पर बिजोलिया के ठाकुर कृष्णसिंह ने 5 रु का चंवरी कर लगाया।
255 ‘उपरमाल पंचबोर्ड’ का गठन 1917 ई. में विजयसिंह पथिक ने, मन्ना पटेल इसके पहले सरपंच थे।
256 बेगू (चित्तोडगढ़) किसान आन्दोलन 1921 ई. में रामनारायण चौधरी के नेतृत्व में प्रारंभ, मेनाल (भीलवाड़ा) नामक स्थान से
257 सर्वप्रथम कन्या वध पर प्रतिबंध 1834 ई. कोटा में
258 सर्वप्रथम सती प्रथा पर प्रतिबंध 1822 ई. में बूंदी में
259 सर्वप्रथम डांकन प्रथा पर प्रतिबंध 1853 ई. उदयपुर में
260 सर्वप्रथम मानव व्यापर पर प्रतिबंध 1847 ई. जयपुर में
261 बीकानेर प्रजामंडल की स्थापना 1936 ई. में मघाराम वैध ने कलकत्ता में की
262 राजस्थान सेवा संघ की स्थापना 1919 ई. में वर्धा (महाराष्ट्र) में, विजयसिंह पथिक, केसरी बारहठ व अर्जुन लाल सेठी ने। 1920 ई. में इसका मुख्यालय अजमेर में हो गया।
263 सवाई जयसिंह द्वारा निर्मित वैधशाला (जंतर-मंतर) 5 जगह दिल्ली, जयपुर, मथुरा, काशी, उज्जैन
264 ‘दा साहब’ अजमेर के हरिभाऊ उपाध्याय को
265 हिन्दी को ‘ईमान की भाषा’ जमनालाल बजाज ने कहा
266 ‘वाट आर द इण्डियन स्टेट्स’ विजयसिंह पथिक द्वारा रचित पुस्तक
267 पीप जयनारायण व्यास द्वारा निकाला गया अंग्रेजी भाषा का समाचार पत्र
268 आगीबाण जयनारायण व्यास द्वारा निकाला गया राजस्थानी भाषा का समाचार पत्र
269 चेतावनी रा चुंगट्या केसरीसिंह बारहठ ने 13 सोरठे उदयपुर के राजा फतेहसिंह को 1903 में दिल्ली में लार्ड कर्जन द्वारा एडवर्ड-7 के सम्राट बनाने की ख़ुशी में आयोजित दिल्ली दरबार में जाने से रोकने हेतु लिखे। जिन्हें ‘चेतावनी रा चुंगट्या’ के नाम से जाना गया।
270 जैन वर्धमान विद्यालय जयपुर में, अर्जुनलाल सेठी द्वारा स्थापित
271 पत्रकारिता के भीष्म पितामह पं. झाबरमल शर्मा
272 1 नवम्बर 1956 के पूर्व अजमेर के मुख्यमंत्री हरिभाऊ उपाध्याय (दा साहब)
273 ब्यावर में सनातन धर्म स्कूल व वर्धा नवभारत विद्यालय की स्थापना सेठ दामोदर दास राठी ने
274 तरुण राजस्थान का पूर्व नाम नवीन राजस्थान, 1921, अजमेर से प्रकाशित
275 ‘जेंटलमैन एग्रीमेंट’ 1942 ई. में जयपुर प्रजामंडल के अध्यक्ष हीरालाल शास्त्री व जयपुर के प्रधान सर मिर्जा इस्माइल के बीच हुआ समझौता
276 गुलाम नं. 4 जमनालाल बजाज स्वयं को कहते थे। पहला गुलाम-भारतदेश, दूसरा गुलाम – देशी राजा, तीसरा गुलाम – सीकर राज्य
277 ‘प्रलय प्रतीक्षों नमो नम:’ हीरालाल शास्त्री जी का प्रसिद्ध लोकगीत
278 अजमेर का राजस्थान में विलय 1 नवम्बर 1956 को
279 प्रथम मुख्यमंत्री  हीरालाल शास्त्री (30 मार्च 1949 को)
280 प्रथम निर्वाचित मुख्यमंत्री टीकाराम पालीवाल (3 मार्च 1952 को)
281 प्रथम राज्यपाल गुरुमुख निहालसिंह (1 नवम्बर 1956 को)
282 प्रथम मुख्यन्यायाधीश कमलकांत वर्मा (29 अगस्त 1949 को)
283 प्रथम विधानसभा अध्यक्ष नरोत्तम लाल जोशी (31 मार्च 1952 को)
284 प्रथम विधानसभा उपाध्यक्ष लालसिंह शक्तावत (31 मार्च 1952 को)
285 प्रथम मुख्य सचिव के. राधाकृष्णन (13 अप्रैल 1949 को)
286 प्रथम पुलिस महानिदेशक  रघुनाथ सिंह (20 जनवरी 1983) इससे पहले राज्य स्तर पर पुलिस के मुखिया पुलिस महानिरीक्षक कहलाते थे। राजस्थान के प्रथम पुलिस महानिरीक्षक आर. बनर्जी (7 अप्रैल 1949) थे।
287 एकीकरण के सातों चरणों की तिथियाँ प्रथम – 18 मार्च 1948 (मत्स्य संघ)

द्वितीय – 25 मार्च 1948 (पूर्व राजस्थान)

तृतीय – 18 अप्रैल 1948 (संयुक्त राजस्थान)

चतुर्थ – 30 मार्च 1949 (वृहद राजस्थान)

पंचम – 15 मई 1949 (संयुक्त वृहद राजस्थान)

षष्ठम – 26 जनवरी 1950 (राजस्थान संघ)

सप्तम – 1 नवम्बर 1956 (राजस्थान)

288 मत्स्य संघ व पूर्व राजस्थान के उद्घाटनकर्ता N.V.गाडगिल, वृहद राजस्थान के उद्घाटनकर्ता सरदार वल्लभ भाई पटेल थे।
289 शांताबाई शिक्षा कुटीर 1935 ई. में हीरालाल शास्त्री व उनकी पत्नी रतन शास्त्री द्वारा स्थापित, वर्तमान नाम – वनस्थली विद्यापीठ
290 आलमशाही सिक्के महाराजा सालिमसिंह (प्रतापगढ़)द्वारा चलाये गये।
291 मत्स्य संघ नाम किसने दिया ? के.एम. मुंशी ने
292 राज्य पुनर्गठन आयोग के अध्यक्ष डॉ. फजल अली
293 राज्य पुनर्गठन आयोग के सचिव वी.पी. मेनन
294 जलियाँवाला बाग हत्याकाण्ड के विरोध में किसने अपनी ‘राय बहादुर’ की उपाधि लौटा दी जमनालाल बजाज ने
295 रियासते, ठिकाने, केन्द्रशासित प्रदेश राजस्थान में, देश आजाद होने के पश्चात् 19 देशी रियासते, 3 ठिकाने/चीफशिफ़/खुदमुख्तियार (लावा (जयपुर), कुशलगढ़ (बाँसवाड़ा), नीमराणा (अलवर) तथा 1 केन्द्रशासित प्रदेश (अजमेर-मेरवाड़ा) था।
296 किस राजघराने ने प्रजामंडल को संरक्षण दिया जयपुर ने
297 जैसलमेर प्रजामंडल 1945 ई. में मीठालाल व्यास ने जोधपुर में स्थापना की।
298 मेवाड़ प्रजामंडल के प्रथम अधिवेशन का उद्घाटनकर्ता 25-26 नवम्बर 1941 को आचार्य कृपलानी
299 राजस्थान का जलियाँवाला बाग़ हत्याकाण्ड निमूचाणा काण्ड अलवर (14 मई 1925)
300 बेंगू के किसानों की जाँच के लिए गठित आयोग ट्रेंच आयोग

अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमे फेसबुक(Facebook) पर ज्वाइन करे Click Now