GK hindi History

राजस्थान इतिहास के महत्वपूर्ण प्रश्नोत्तरी SET 4

राजस्थान इतिहास के महत्वपूर्ण प्रश्नोत्तरी SET 4

राजस्थान में होने वाली सभी एग्जाम के लिए महत्वपूर्ण प्रश्नोत्तर है इस टेबल में 301-400 प्रश्नोत्तर है जो सभी हिंदी में है और यदि आप यह नोट्स अपने Email पर पाना चाहते है तो Email subscribe करे और फेसबुक के लिए पेज को लाइक करे Like



301 सम्प सभा 1883 ई. में गोविन्द गुरु द्वारा स्थापित
302 भोमट भील आन्दोलन का अन्य नाम एकी आन्दोलन, आदिवासियों के मसीहा मोतीलाल तेजावत के नेतृत्व में मातृकुण्डिया (चित्तोडगढ़) में 1921 में प्रारंभ
303 15 अगस्त 1947 को किन रियासतों ने स्वतंत्र रहने की घोषणा की ? डूंगरपुर, अलवर, भरतपुर, जोधपुर
304 संयुक्त राजस्थान की राजधानी उदयपुर
305 वृहत राजस्थान के मुख्यमंत्री हीरालाल शास्त्री
306 मत्स्य संघ का राज प्रमुख उदयभान सिंह (धौलपुर)
307 मत्स्य संघ का प्रधानमंत्री शोभाराम कुमावत
308 पूर्व राजस्थान की राजधानी कोटा
309 धौलपुर व भरतपुर रियासतों को राजस्थान में मिलाने हेतु शंकरराव देव की अध्यक्षता में समिति गठित हुई, ये दोनों रियासते उत्तरप्रदेश में मिलना चाहती थी।
310 1 नवम्बर 1956 को मुख्यमंत्री कौन थे ? मोहनलाल सुखाड़िया
311 राज्यपाल पद कब सृजित हुआ 1 नवम्बर 1956 को
312 कोटा का वह क्षेत्र जिसे 1 नवम्बर 1956 को मध्यप्रदेश को दे दिया गया ? सिरोंज
313 26 जनवरी 1950 को राजस्थान राज्य को किस श्रेणी में रखा गया ? ‘ख’ श्रेणी
314 वृहत राजस्थान के महाराज प्रमुख महाराणा भूपालसिंह (उदयपुर)
315 बांकिदास किसका दरबारी कवि था ? जोधपुर के राजा मानसिंह के, बांकिदास (मारवाड़ का बीरबल) ने ‘कृप दर्पण’ ग्रन्थ की रचना की।
316 डॉ. तेस्सितोरी ने ‘डिंगल भाषा का हैरोस’ किसे कहा ? बीकानेर के प्रसिद्ध कवि पृथ्वीराज राठौड़ को
317 नाडोल/जूनाखेड़ा किस वंश से सम्बंधित है ? चौहान वंश से, यहाँ चौहानों को कुल देवी आशापुरा माता का मंदिर भी है।
318 जैसलमेर का प्रथम साका अलाउद्दीन खिलजी के आक्रमण के समय रावल मूलराज व कुंवर रतनसी शहीद
319 जैसलमेर का दूसरा साका फिरोजशाह तुगलक के आक्रमण के समय रावल दूदा व त्रिलोक सी शहीद
320 जैसलमेर का तीसरा  (अर्द्ध साका) 1550 ई. में कांधार के अमीर अली पठान के धोखे से आक्रमण के समय लूनकर्ण शहीद, इस इस युद्ध में राजपूत शहीद हुए परन्तु राजपूतानियां जोहर नहीं कर सकी। इसलिये इसे अर्द्ध साका कहते है।
321 ‘बागीश्वरी’ रमा बाई (राणा कुम्भा की पुत्री जो संगीतज्ञ थी)
322 रागमाला, रसिक प्रिया, गीत गोविन्द पर चित्र मेवाड़ के अमर सिंह प्रथम के समय (1597-1620)
323 पन्नाधाय का पुत्र चन्दन
324 जोधपुर की अजित सिंह की धाय गोराधाय
325 नाथ प्रशस्ति 971 ई. में एकलिंगजी के मंदिर (कैलाशपुरी, उदयपुर) के पास लकुलीश मंदिर से प्राप्त अभिलेख जिसमें बापा रावल व अन्य गुहिल शासकों की प्रशस्ति है।
326 किस प्रतिहार शासक की हत्या कर महमूद गजनवी ने 1019 में प्रतिहार राजवंश का समापन किया ? मिहिरभोज
327 जैसलमेर के भाटियों की प्रथम, द्वितीय, तृतीय, चतुर्थ व पंचम राजधानी प्रथम – भटनेर

द्वितीय – तनोट

तृतीय – देवरावल

चतुर्थ – लोद्रवा

पंचम – जैसलमेर

328 जोधपुर के जसवंतसिंह की मृत्यु कब व कहाँ हुई ? 1678 ई. में जमरूद (अफगानिस्तान) में
329 चौगान (पोलो) खेलों का प्रथम संरक्षक मिर्जा राजा जयसिंह
330 जवाहर कला केंद्र जयपुर के स्थापत्यकार चार्ल्स कोरिया
331 ‘आजादी के दीवाने’ के रचयिता सागरमल गोपा
332 किस सभ्यता में मछली पकड़ने के कांटे मिले है ? गणेश्वर (सीकर)
333 गिलुण्ड सभ्यता स्थल राजसमन्द में
334 जयपुर के वास्तुकार बंगाली ब्राह्मण विद्याधर भट्टाचार्य
335 ईसवाल लौह्कलिन सभ्यता स्थल उदयपुर (2003 में)
336 डडीकर प्राचीन शैलचित्र स्थल अलवर
337 पांडवों ने अज्ञातवास बैराठ (जयपुर) में
338 पहली बर्ड राइडर रॉक पेंटिंग गरडदा (बूंदी)
339 ब्रिटिश काल में राजस्थान में प्रचलित सिक्के कलदार
340 हनुमानगढ़ का प्राचीन नाम भटनेर
341 धौलपुर का प्राचीन नाम कोठी
342 जैसलमेर का प्राचीन नाम मांडधरा/वल्लदेश
343 भीनमाल का प्राचीन नाम श्रीमाल
344 ऋषभदेव (उदयपुर)का प्राचीन नाम धुलेव
345 नाथद्वारा का प्राचीन नाम सिन्हाड
346 बयाना का प्राचीन नाम श्रीपंथ
347 झालरापाटन का प्राचीन नाम बृजनगर
348 मंडोर का प्राचीन नाम माण्डव्यपुर
349 श्री महावीर जी (करौली) का प्राचीन नाम चन्दन
350 नागौर का प्राचीन नाम अक्षत्रियपुर
351 बीकानेर का प्राचीन नाम जांगल प्रदेश
352 जयसमन्द का प्राचीन नाम ढेबर
353 उदयपुर का प्राचीन नाम शिवि
354 हनुमानगढ़ व गंगानगर का भूभाग यौद्धेय क्षेत्र
355 सिरोही का प्राचीन नाम अर्बुद प्रदेश
356 करौली का प्राचीन नाम गोपालपाल/विजयगढ़
357 1818 ई. में अंग्रेजी ने किस रियासत को खिराज से मुफ्त कर दिया बीकानेर
358 खरीता पत्र व्यवहार (एक महाराजा से दुसरे महाराजा के मध्य)
359 त्रिरत्न अभिलेख बैराठ (जयपुर) से प्राप्त
360 7 वीं सदी में हवेनसांग भीनमाल (जालौर) में आया
361 राजस्थान में क्रांति हेतु आधार भूमि तैयार करने वाले श्याम कृष्ण वर्मा
362 इतिहास, पुरातत्व एवं आध्यात्म की त्रिवेणी किराडू (बाड़मेर)
363 अबुल फजल के भाई फैजी (यह भी अकबर के दरबार में कवि था) परन्तु नवरत्न नहीं था)
364 दौराई का युद्ध 14 मार्च 1659, अजमेर औरंगजेब ने दाराशिकों को हराया
365 मानपुर का युद्ध 3 मार्च 1748 में जयपुर के महाराजा ईश्वरसिंह व अहमदशाह अब्दाली के मध्य
366 बिजोलिया के किसानों पर हुए अत्याचारों की जाँच हेतु गठित आयोग अप्रैल 1919 में न्यायमूर्ति बिन्दुलाल भट्टचार्य की अध्यक्षता में गठित
367 शहीद कृपाजी व रुपाजी बेंगू आन्दोलन में शहीद
368 सर्वप्रथम उत्तरदायी शासन की मांग उठाने वाले नेता जमनालाल बजाज
369 ‘महेन्द्र कुमार’, ‘मदन पराजय’, ‘पश्र्वज्ञ पुस्तक’ के रचयिता अर्जुनलाल सेठी
370 बोल्शेविक फैसला (1925) किस आन्दोलन की उपज था बेंगू किसान आन्दोलन
371 ‘सर्वोदय की बुनियाद’ के रचयिता हरिभाऊ उपाध्याय
372 माणिक्यलाल वर्मा का जन्म स्थान बिजोलिया (भीलवाड़ा)
373 राजस्थान में देशी राज्य लोक परिषद् के नेता जयनारायण व्यास
374 आधुनिक राजस्थान के निर्माता मोहनलाल सुखाड़िया
375 ‘राजसिंह चरित’ एवं ‘रूठी रानी’ के रचनाकार केसरीसिंह बारहठ
376 मद्य निषेध हेतु प्रयास 1972-81 के दौरान गोकुल भाई भट्ट ने
377 माणिक्यलाल वर्मा की पत्नी नारायणी देवी
378 राजस्थान में राजनैतिक चेतना को सर्वप्रथम जन्म देने वाला अर्जुन लाल सेठी
379 गाँधी आश्रम हटुंडी (अजमेर) में हरिभाऊ उपाध्याय द्वारा स्थापित
380 प्रथम परमवीर चक्र विजेता राजस्थानी हवलदार मेजर पिरुसिंह (1948 ई. झुंझुनू निवासी)
381 द्वितीय परमवीर चक्र विजेता राजस्थानी मेजर शैतान सिंह (1962) जोधपुर निवासी। अब तक 2 राजस्थानियों को परमवीर चक्र मिल चूका है
382 बीकानेर का काला कानून 1932 ई. का सार्वजनिक सुरक्षा कानून
383 केन्द्रीय काराग्रह में भूख हड़ताल के दौरान दम तोड़ने वाले बालमुकुन्द बिस्सा (जोधपुर)
384 ‘शेर-ए-भरतपुर’ गोकुल जी वर्मा
385 तात्या टोपे को राजस्थान में हराने वाले जनरल रोबर्ट्स कर्नल होम्स, कप्तान शॉवर्स
386 1947 से पूर्व पानी पर लगने वाले टेक्स आबियाना
387 मारवाड़ हितकारिणी सभा 1918 ई. जोधपुर में चांदमल सुराणा द्वारा स्थापित
388 वागड़ सेवा मंदिर 1917 ई. डूंगरपुर में, भोगीलाल पंड्या द्वारा स्थापित
389 चरखा संघ 1927 ई., जयपुर में जमनालाल बजाज द्वारा स्थापित
390 सर्वहित पत्रिका 1879 ई. बूंदी से प्रकाशित
391 प्रत्यक्ष जीवन शास्त्र के रचयिता पं. हीरालाल शास्त्री
392 प्रथम पद्म श्री 1955 ई. में श्रीमती रतन शास्त्री (हीरालाल शास्त्री की पत्नी)
393 प्रथम पद्म भूषण कंवरसेन (1956 ई. में)
394 प्रथम पद्म विभूषण श्रीमती जानकी देवी बजाज (1956) जमनालाल बजाज की पत्नी जिन्हें भूदान-कूपदान में विशिष्ट योगदान के लिए

नोट – पद्म विभूषण प्राप्त करने वाले प्रथम राजस्थानी पुरुष श्री घनश्यामदास बिड़ला (1961 ई.) है। जिन्हें भारतीय उद्योग जगत का पितामह कहा जाता है।

395 प्रथम अशोक चक्र विजेता हवलदार शम्भू दयाल सिंह, नागौर (1948)
396 प्रथम वीर चक्र विजेता स्क्वाड्रन लीडर अजय आहूजा, कोटा 1999
397 प्रथम महिला पायलट नम्रता भट्ट
398 प्रथम महिला फ्लाइंग ऑफिसर निवेदिता
399 राजस्थान की राधा मीरा बाई
400 वागड़ की मीरा गवरी बाई




अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमे फेसबुक(Facebook) पर ज्वाइन करे Click Now