राजस्थान इतिहास के महत्वपूर्ण प्रश्नोत्तरी SET 5

राजस्थान इतिहास के महत्वपूर्ण प्रश्नोत्तरी SET 5

राजस्थान में होने वाली सभी एग्जाम के लिए महत्वपूर्ण प्रश्नोत्तर है इस टेबल में 401-500 प्रश्नोत्तर है जो सभी हिंदी में है और यदि आप यह नोट्स अपने Email पर पाना चाहते है तो Email subscribe करे और फेसबुक के लिए पेज को लाइक करे Like



401राजस्थान का कबीरसंत दादूदयाल
402राजस्थान का नृसिंहसंत दुर्लभजी
403शेर-ए-राजस्थानजयनारायण व्यास
404मत्स्य संघ में सम्मिलित रियासतेंअलवर, भरतपुर, धौलपुर, करौली
405पूर्व राजस्थान संघ के राजप्रमुखकोटा नरेश भीमसिंह
406स्वतंत्रता से पूर्व ए.जी.जी. का मुख्यालयमाउन्ट आबू
407“में अपने डेथ वारंट पर हस्ताक्षर कर रहा हूँ”यह कथन राजस्थान के एकीकरण के समय विलय-पत्र पर हस्ताक्षर करते हुए बाँसवाड़ा के राजा चंद्रवीर सिंह ने कहा।
408प्रथम महावीर चक्रकर्नल किशन सिंह राठौड़, चूरू (1948)
409खानवा का मैदान कहाँ हैभरतपुर की रूपवास तहसील में
410‘पुस्तक प्रकाश’जोधपुर दुर्ग में महाराजा मानसिंह द्वारा स्थापित पुस्तकालय
411औरंगजेब की मृत्यु तक अपने आप को स्वतंत्र रखने का प्रयास करने वाला राजपूत राज्यमारवाड़
412मौर्य व गुहिल वंश कहाँ पर ?मेवाड़ (चित्तोडगढ़, उदयपुर, राजसमन्द आदि)
413राठौड़ वंश कहाँ पर ?मारवाड़ (जोधपुर), बीकानेर, किशनगढ़
414भाटी वंश ?जैसलमेर
415चौहान वंश ?अजमेर, रणथम्भौर, जालौर
416कच्छवाह वंश ?जयपुर
417सोनगरा वंशभीनमाल
418चावल के दाने किस सभ्यता सेरंगमहल (हनुमानगढ़) से
419‘लक्कड़ और कक्कड़’जयनारायण व्यास को कहा जाता था।
420प्राचीन मत्स्य प्रदेश की राजधानीविराटनगर (महाभारतकाल में)
421मत्स्य संघ की राजधानीअलवर (राजस्थान के एकीकरण के समय)
422राजसमन्द प्रशस्ति के लेखकरणछोड़ भट्ट
423राजपूताने के किस शासक ने सर्वप्रथम मुगलों के साथ वैवाहिक सम्बन्ध स्थापित कियेजयपुर के राजा भारमल ने अपनी पुत्री हरखाबाई का विवाह 1562 ई. में अकबर से करवाया
424‘नरसीं जी का मायरा’ के रचयितामीरा बाई
425जैतारण के युद्ध को और किस नाम से जाना जाता हैगिरी सुमेल/सामेल का युद्ध, 1544 ई. में 
426जोधपुर के जसवंतसिंह प्रथम को महाराजा की उपाधि किसने दीशाहजहाँ ने
427मिर्जा राजा जयसिंह को मिर्जा राजा की उपाधि किसने दीशाहजहाँ ने
428प्राचीन शूरसेन प्रदेश की राजधानीमथुरा
429‘खुमाण रासों’ के रचयितादलपति विजय
430‘मतीरे की राड़’ युद्ध1644 ई. में नागौर के अमरसिंह राठौड़ तथा बीकानेर के कर्णसिंह के बीच
431गुर्जरों की राजधानीभीनमाल (जालौर)
432‘खम्भों का जंगल’रणकपुर का जैन मंदिर (पाली) 1444 खम्भे
433राणा कुम्भा की प्रसिद्ध रचनाएँसंगीतराज, रसिक प्रिया, सूड प्रबंध, कामराज रतिसार
434पुरन्दर की संधि1665 ई. में औरंगजेब की तरफ से जयपुर के मिर्जा राजा जयसिंह ने छत्रपति शिवाजी से की
435पुण्डरीक विट्ठल के प्रसिद्ध ग्रन्थराग चंद्रोदय, राग मंजरी, नर्तन निर्णय
436जोधाबाई का वास्तविक नामजगतगुंसाई (जोधपुर के मोटा राजा उदयसिंह की पुत्री)
437सुल्तान निस्सा का वास्तविक नाममनभावनी (जयपुर के भगवंत दास की पुत्री)
438मरियम उज्ज्वानी का वास्तविक नामहरखाबाई (जयपुर के भारमल की पुत्री)
439रणकपुर के मंदिर में खम्भों की संख्या1444
440हवामहल की खिडकियों की संख्या953
441क्रांतिकारी प्रतापसिंह बारहठ के गुरुमास्टर आदित्येन्द्र
442दामोदर दास राठी का जन्म स्थानपोकरण (जैसलमेर)
443राजस्थान में सशस्त्र क्रांति के जनकगोपाल सिंह खरवा
444गोकुल भाई भट्ट का जन्म स्थानहाथल गाँव (सिरोही)
445संयुक्त राजस्थान के प्रधानमंत्रीमाणिक्यलाल वर्मा
446जमनालाल बजाज का जन्म स्थानकाशी राम बास (सीकर)
447केसरीसिंह बारहठ का जन्म स्थानशाहपुरा (भीलवाड़ा)
448मुस्लिम बच्चों को अरबी-फारसी पढ़ा कर जीवन यापन करने वालेअर्जुनलाल सेठी (ख्वाजा मुइनुद्दीन चिश्ती की दरगाह में)
449हीरालाल शास्त्री का जन्म स्थानजोबनेर (जयपुर)
450‘देश के दीवाने’ पुस्तक के लेखकराजस्थान सरकार द्वारा सम्पादित
451राणा मोकल की हत्या किसने कीचाचा व मेरा नामक दो सामन्तों ने
452महामन्दिर का निर्माणजोधपुर के राजा मानसिंह ने अपने गुरु आयासनाथ/देवनाथ से प्रसन्न होकर
453भूरेशाह की मजार कहाँ है ?मेहरानगढ़ (जोधपुर)
454भारत छोड़ो आन्दोलन का राजस्थान में सूत्र पातजोधपुर में
455जमनालाल बजाज के कहाँ आने पर तथा किसने प्रतिबंध लगायाबीकानेर आने पर व बीकानेर के राजा गंगासिंह ने
456तौल आन्दोलन1920 ई. में जोधपुर में चांदमल सुराणा के नेतृत्व में
457द्वितीय गोलमेज सम्मलेन में कौन गयेबीकानेर के राजा गंगासिंह लन्दन गए
458तलवार बंदीबिजौलिया में कृष्णसिंह के उत्तराधिकारी पृथ्वीसिंह ने यह कर लगाया
45984 प्रकार की लागतेबिजौलिया में (भीलवाड़ा) ली जाती थी 
460दैनिक नवज्योति का प्रकाशन1936 ई. अजमेर, केप्टन दुर्गाप्रसाद चौधरी ने
461अकबर के दूत के रूप में महाराणा प्रताप से मिलने वालेसर्वप्रथम जलाल खां, इसके अलावा मानसिंह, भगवंत दास, टोडरमल भी गए
462टॉड की ‘एनल्स’ का हिन्दी अनुवाद किसने किया ?गोरीशंकर हिराचंद ओझा
463‘राजपूताने का इतिहास’ के रचयितागोरीशंकर हिराचंद ओझा
464राजस्थान का पहला महाविद्यालय जो इन्टर स्तर की थी 1875 ई. मेयो कॉलेज (अजमेर)
465प्रथम तारघर22 फरवरी 1895 (उदयपुर)
466एकलिंगजी के मंदिर का निर्माताबापा रावल
467बनवीर किसका पुत्र थाराणा सांगा के भाई पृथ्वीराज अवैध दासी पुत्र
468धरमत का युद्ध1657 ई. में उज्जैन में हुए इस युद्ध में जोधपुर के राजा जसवंत सिंह प्रथम दाराशिकोह के पक्ष में लड़ते हुए औरंगजेब व मुराद से हारे
469मेवाड़ के संथापकगुहादित्य
470महाराणा प्रताप की माँ का नामजयवंती बाई (पाली के अखैराज सोनगरा की पुत्री)
471जसवंत थड़ा किसने बनाया1899-1906 ई. में जोधपुर के राजा सरदार सिंह ने अपने पिता जसवंत द्वितीय की स्मृति में बनवाया।
472वासुदेव ने चौहान वंश की स्थापना कब की ?551 ई. में सपादलक्ष (सांभर) में
473अजमेर की स्थापना1113 ई. में अजयराज ने
474जैसलमेर की स्थापना1153 ई. जैसल भाटी ने
475जोधपुर की स्थापना12 मई 1459 को राव जोधा ने
476जयपुर की स्थापना18 नवम्बर 1727 को सवाई जयसिंह ने
477बीकानेर की स्थापना1488 ई. में राव बीका ने
478कोटा की स्थापना1625 ई. माधो सिंह ने
479उदयपुर की स्थापना1559 ई. उदयसिंह ने
480भरतपुर की स्थापना1733 ई. में सूरजमल जाट ने
481जयानक कहाँ का थाकश्मीर का, ‘पृथ्वीराज विजय’ ग्रन्थ के रचयिता
482बलबन को किसने हरायाचित्तोड़ के रावल जैत्रसिंह ने
483जालौर का अलाउद्दीन खिलजी द्वारा दिया गया नामजलालाबाद
484सिवाणा का अलाउद्दीन खिलजी का दिया हुआ नामखैराबाद
485सर्वप्रथम बारूद का प्रयोगखानवा के युद्ध में (राजस्थान में) बाबर ने
486उदयपुर की मृत्यु कहाँ हुई ?गोगुन्दा (उदयपुर) में, 1572 ई. में
487महासतियाँ में सबसे प्राचीन छतरीअमरसिंह प्रथम की
488अकबर ने 1580 में राजस्थान का सूबेदार किसे बनाया ?अब्दुर रहीम खानखाना को
489राजस्थान का पुनर्गठन कब1 नवम्बर 1956 को
490यादवों की रियासतकरौली, भटनेर (हनुमानगढ़), जैसलमेर
491शहजादा अकबर को संरक्षण किसने किया ?मारवाड़ के दुर्गादास राठौड़ ने
492मेवाड़ का अंतिम रावल राजारावल रतनसिंह (1303)
493मेवाड़ का प्रथम राणा राजाराणा हमीर (1326 ई. में)
494हंसाबाई किसकी पुत्री थी ?जोधपुर के राव चूंडा की पुत्री तथा राव रणमल की बहिन तथा राव जोधा की बुआ।
495जोधपुर दुर्ग की नींव में किसने बलिदान दिया।राजाराम मेघवाल/राजिया भांभी
496चित्तोड़ का प्रथम मोर्य राजाचित्रांगद मौर्य
497चित्तोड़ का अंतिम मौर्य राजामान मौर्य (इसे बप्पा रावल हराकर चित्तोड़ में गुहिल वंश प्रारंभ किया।
498किलकिला तोप, शम्भूबाण, गजनी खां तोपमेहरानगढ़ दुर्ग (जोधपुर) में
499गागरोण का पहला साका1423 ई. में अचलदास खिंची को मांडू के सुल्तान अलप खां गौरी (होशगशाह) ने हराया। समकालीन कवि शिवदास गाडण ने ‘अचल दास खिंची ऋ वचनिका’ में इस युद्ध का वर्णन किया है।
500गागरोण का दूसरा साका1444 ई. में मांडू के सुल्तान महमूद खिलजी ने आक्रमण किया पाल्हणसी खिंची तो भाग गया, लेकिन अन्य शहीद हो गये। इसलिये इसका नाम खिलजी ने ‘मुस्तफाबाद’ रख दिया।




अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमे फेसबुक(Facebook) पर ज्वाइन करे Click Now


Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

error: Content is protected !!