Oops! It appears that you have disabled your Javascript. In order for you to see this page as it is meant to appear, we ask that you please re-enable your Javascript!

मेसेन्टरी: मानव शरीर का 79वां अंग

मेसेन्टरी: मानव शरीर का 79वां अंग

मानव शरीर एक जटिल संगठन है जिसके विभिन्न अंगों एवं उसके कार्यप्रणाली के संबंध में समय-समय पर वैज्ञानिकों द्वारा नए-नए खोज होते रहे हैं| इन खोजों के द्वारा हमें नई-नई बिमारियों एवं उससे बचने के उपाय की जानकारी मिलती है| हाल ही में एक आयरिश वैज्ञानिक ने मानव पाचन तंत्र में एक नए अंग की खोज की है, जिसके बारे में अभी तक हमें जानकारी नहीं थी| इस नए अंग का नाम “मेसेन्टरी” है| मेसेन्टरी हमारे शरीर में पेट में पाया जाता है जो पेट, आंत,  स्प्लीन (प्लीहा) और पैन्क्रियाज को जोड़ता है|

Mesentery - मेसेन्टरी: मानव शरीर का 79वां अंग



आयरलैण्ड की लाइमरिक यूनिवर्सिटी के वैज्ञानिक प्रोफेसर जे. केविन कॉफरी ने इस अंग की खोज की है| कॉफरी ने इस अंग की खोज 2012 में ही कर ली थी लेकिन उस समय इसे पेट,  आंत,  स्प्लीन (प्लीहा) और पैन्क्रियाज को जोड़ने वाला अलग-अलग भाग माना जाता था| अतः कॉफरी और उनकी टीम ने कई वर्षों तक “मेसेन्टरी” का अध्ययन किया| अंततः कॉफरी ने अपने अध्ययन में पाया कि यह एक निरंतर और संपूर्ण अंग है|  “मेसेन्टरी” के पुनर्वर्गीकरण के निष्कर्ष को “लैंसेट गैस्ट्रोएंटरोलॉजी और हेपाटोलॉजी” नामक शोधपत्र  में प्रकाशित किया गया है|

Science Notes updates on Facebook joined us to continue to gain.

पेट से संबंधित रोगों के बेहतर एवं सस्ते उपचार की संभावना

प्रोफेसर कॉफरी के अनुसार मेसेन्टरी की खोज के बाद पेट से संबंधित रोगों का वर्गीकरण आसान हो जाएगा, जिसके कारण एब्डोमिनल सर्जरी की संभावना कम हो जाएगी। अतः इससे पेट से संबंधित रोगों के बेहतर एवं सस्ते उपचार को बल मिलेगा| भविष्य में चिकित्सक पेट से संबंधित समस्या होने पर मेसेन्टरी के जरिए आसानी से पता लगा सकते हैं कि पेट के किस भाग में समस्या है। साथ ही उपचार के दौरान भी मेसेन्टरी के बारे में जानकारी होना “गेस्ट्रोएन्ट्रोलॉजिस्ट” के लिए ईलाज की प्रक्रिया को आसान बना देगा।



मानव कंकाल तंत्रः संरचना, कार्य और बीमारियां

वैज्ञानिकों का अगला कदम मेसेन्टरिक साइंस का अध्ययन करना होगा

प्रोफेसर कॉफरी के मुताबिक एक अंग के रूप में मेसेन्टरी की पहचान के बाद अब वैज्ञानिकों अगला कदम इसकी कार्यप्रणाली का अध्ययन करना होगा| शरीर में मेसेन्टरी के कार्यों की जानकारी मिलने पर मानव पाचन तंत्र में होने वाली अनियमितता को भी आसानी से पहचाना जा सकता है| जिससे बिमारियों का पता लगाने में और उसके इलाज में आसानी होगी| प्रोफेसर कॉफरी के अनुसार मेसेन्टरी के कार्यप्रणाली के अध्ययन को “मेसेन्टरिक साइंस” नाम दिया गया है|

नोट: “मेसेन्टरी” की खोज के बाद मानव शरीर में अंगों की संख्या 79 हो गई है|

आइए अब हम जानते हैं कि मानव पाचन तंत्र के प्रमुख अंग कौन-कौन हैं?

Human Digestive System - मेसेन्टरी: मानव शरीर का 79वां अंग

 



1. मुख
2. ग्रासनली
3. अमाशय
4. ग्रहणी
5. छोटी आंत
6. सीकम
7. बड़ी आंत



इसके अलावा मानव पाचन तंत्र में तीन पाचन ग्रंथियां भी होती है जिनके नाम निम्न हैं:

1. लार ग्रंथियां
2. यकृत
3. अग्नाशय (पैन्क्रियाज)

Science Notes के अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें Facebook पर ज्वाईन करे | Click Now

Science Notes updates on Facebook joined us to continue to gain.

error: Content is protected !!