दालों का नाम हिंदी में

दालों का नाम हिंदी में

का नाम हिंदी में - दालों का नाम हिंदी में
दालों का नाम हिंदी में

S.No

Pulses Name

हिंदी अर्थ

Hinglish

1Green Gramमूंग दालMoong Daal
2 lack-eyed pea, cowpeaलोबियाLobia
3Moth dal, Turkish gramमोठ की दालMoth Ki Daal
4Lentil, Red Lentil मसूरMasoor
5Kidney Beans, BeansराजमाRajma
6 Sagoसाबूदानाsaboondana
7Red Gram, Pigeon peaअरहरArhar
8ChickpeasछोलाChhola
9Black lentils, Black gramउड़द की दाल, काली दालUdad Ki Daal, Kali Daal

1. मसूर दाल (Lentil Pulse) – मसूर की दाल को पकने में अधिक समय लगता है। इस दाल में फाइबर और प्रोटीन भरपूर होता है। अगर आपको कब्ज है तो मसूर दाल की बनी सब्जी जरूर खाइये। मसूर की दाल मुख्यतः तीन प्रकार की होती है। काली मसूर दाल, हरा मसूर, लाल मसूर दाल मुख्य है। भारत देश में इस दाल का उत्पादन सर्वोधिक होता है।

2. उड़द दाल (Black Gram) – उड़द की दाल काली होती है लेकिन धुली हुई दाल सफेद है। उड़द में प्रोटीन, विटामिन्स, मिनरल्स और कार्बोहाइड्रेट होते है। इस दाल की सब्जी बहुतायत से बनाई जाती है। यह साबुत, बिना छिलके वाली होती है। इस दाल में आयरन भी प्रचुर मात्रा में मिलता है। इसलिए उड़द की दाल खून की मात्रा को बढ़ाती है।

3. चना दाल (Chickpea Pulse) – यह दाल साबुत चना की दलहन से बनती है। चना कई प्रकार का होता है। इसमें काबुली चना आता है जिसे छोले भी कहते है। इसके अलावा काले चने आते है। चना दाल सबसे सस्ती दाल है जो बाजार में आसानी से मिल जाती है। चना दाल में प्रोटीन, कार्बोहाइड्रेट, विटामिन्स होते है। इस दाल में फाइबर की मौजूदगी होती है जो कब्ज में लाभदायक है। इसके नुकसान में एसिडिटी की शिकायत होती है। चना की दाल को पीसकर बेसन बनाया जाता है। भारत देश में सबसे अधिक चना उत्पादन होता है।

4. मूंग दाल (Gram Split) – मूंग की दाल अन्य दालों के मुकाबले जल्दी पक जाती है। यह खाने में जितनी स्वादिष्ट होती है, उतनी ही फायदेमंद भी है। मूंग दाल की खिचड़ी भी बनाई जाती है। इस दाल में प्रोटीन, कार्बोहाइड्रेट, फाइबर, विटामिन्स, मिनरल्स इत्यादि पोषक तत्व होते है। मूंग दाल हरे और पीले रंग की होती है। मूंग को दलकर इसके टुकड़े करके दाल बनाई जाती है।

5. अरहर की दाल (Pigeon Pea) – अरहर की दाल को तुअर की दाल भी कहते है। यह सबसे स्वादिष्ट और स्वास्थ्यवर्धक दाल है। इस दाल में प्रोटीन, कार्बोहाइड्रेट, मिनरल्स और विटामिन्स भरपूर होते है। यह दाल कब्ज में फायदेमंद नही है लेकिन प्रोटीन का मुख्य स्रोत है। भारत देश में अरहर का अधिक मात्रा में उत्पादन होता है।

6. कुल्थी दाल (Horse Gram) – इसे आम भाषा में कुलद भी कहते है। कुल्थी में प्रोटीन, कार्बोहाइड्रेट, विटामिन्स पाये जाते है। पथरी जैसी समस्या में कुल्थी फायदेमंद है। इस दाल की सब्जी भी बनाई जाती है।

7. सोयाबीन (Soybean) – सोयाबीन की सब्जी से ज्यादा इसका तेल प्रसिद्ध है। वैसे यह दलहन नही है लेकिन बीन्स की श्रेणी में आता है। एक रोचक बात यह भी है की सोयाबीन से तेल नहीं निकलता है लेकिन इसके नाम का तेल बाजार में बहुत चलता है। इसमें प्रोटीन, कार्बोहाइड्रेट भरपूर होते है। इसकी बनी सब्जी को शाकाहारी मांस भी कहते है। सबसे ज्यादा सोयाबीन का उत्पादन अमेरिका में होता है।

8. साबूदाना (Sago) – यह सफेद रंग का होता है। वैसे साबूदाना की खीर भी बनाते है। यह नरम और स्पंज प्रकृति का होता है। साबूदाना सेगो पेड़ के तने के गुदा से बनता है। इसमें कार्बोहाइड्रेट और विटामिन्स होते है।

9. राजमा (Kidney Bean) – राजमा की सब्जी दाल की तरह बनती है। इसे चावल के साथ खाया जाता है। इसमें भी प्रोटीन और कार्बोहाइड्रेट होता है। भारत देश में भी राजमा की खेती की जाती है।

1. Black gram ब्लैक ग्राम काली दाल
Black lentils ब्लैक लेनटिल्स उड़द दाल

2. Pigeon pea पिजन पी अरहर दाल
रेड ग्राम अरहर दाल

3.Red lentil रेड लेंटिल मसूर दाल
Lentil. लेंटिल मसूर दाल

4.Green gram ग्रीन ग्राम मूंग दाल

5.Turkish gram तुर्किश ग्राम। मोठ दाल

6.Beans बीन्स राजमा
Kidney beans किडनी बीन्स राजमा

7.Chickpeas चिकपीस छोला/काबुली चना

8.Sago सागो साबूदाना

9.Cowpea काउ पी लोबिया
Lack-eyed pea लेक-आईड पी लोबिया

10.Pea पी मटर

11.Field Beans फील्ड बीन्स वाल

12.Puffed rice पुफड राइस मुरमुरा

13.Brocken wheat ब्रोकन वीट दलिया

14.Split bengal gram स्प्लिट बेंगल ग्राम चना दाल

15.Beaten rice बीटन राइस पोहा

16.Horse gram हॉर्स ग्राम कुल्थी

17.Sesame. सेसमे तिल

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

error: Content is protected !!