विद्युत वाहक बल क्या है EMF की परिभाषा और मात्रक

विद्युत वाहक बल क्या है EMF की परिभाषा और मात्रक

किसी चालक में इलेक्ट्राॅन का प्रवाह ही विद्युत धारा कहलाता है । लेकिन इलेक्ट्राॅन को प्रवाहित होने के लिए एक बल की जरूरत होती है जिससे वे एक स्थान से दूसरे स्थान तक प्रवाहित हो सके । किसी चालक अथवा तार में से इलेक्ट्राॅन प्रवाहित होने के लिए जो बल लगता है उसे विद्युत वाहक बल कहते हैं ।
विद्युत वाहक बल विद्युत को चालक के एक सिरे से दूसरे सिरे तक पहुंचाने का कार्य करता है ।
इसका S.I. मात्रक वोल्ट है ।

विधुत वाहक बल

    -किसी विधुत ऊर्जा उत्पादक उपकरण द्वारा पैदा किया गया वह बल जिसके कारण किसी चालक अथवा सर्किट में इलैक्ट्रोन्स का प्रवाह स्थापित किया जाता है विधुत वाहक बल कहलाता है।इसका संकेत E तथा मात्रक वोल्ट है।

पोटेन्शियल

    –किसी वस्तु का वैधुतिक स्तर जिससे यह ज्ञात होता है कि करंट का प्रवाह किस ओर होगा पोटेन्शियल कहलाता है । वस्तु पर पॉजिटिव पोटेन्शियल होने पर करंट का प्रवाह वस्तु से पृथ्वी की ओर होगा ओर नेगेटिव पोटेन्शियल होने पर करंट का प्रवाह पृथ्वी से वस्तु की ओर होता है।

पोटेन्शियलडिफ़रेंस

    –किसी रेसिस्टेन्स या लोड में से करंट का प्रवाह होने पर उसके सिरे के पोटेन्शियल में अन्तर पैदा हो जाता है जो पोटेन्शियल डिफ़रेंस कहलाता है ।इसका प्रतीक तथा मात्रक वोल्ट है।

P.D तथा E.M.F. में अन्तर 

     -यदि किसी सर्किट में करंट का प्रवाह शून्य हो तो p.d का मान भी शून्य होगा जबकि E.M.F. का मान शून्य नही होगा ।

कुछ सेलों के विद्युत वाहक बल

विवाब (EMF) सेल का रसायन प्रचलित नाम
एनोड विलायक, विद्युत-अपघट्य कैथोड
1.2 V कैडमियम जल, पोटैशियम हाइडाक्साइड NiO(OH) निकल-कैडमियम
1.2 V Mischmetal(hydrogen absorbing) Water, potassium hydroxide Nickel nickel–metal hydride
1.5 V Zinc Water, ammonium or zinc chloride Carbon, manganese dioxide Zinc carbon
2.1 V Lead Water, sulfuric acid Lead dioxide Lead–acid
3.6 V to 3.7 V Graphite Organic solvent, Li salts LiCoO2 Lithium-ion
1.35 V Zinc Water, sodium or potassium hydroxide HgO Mercury cell

विरोधी विधुत वाहक बल (emf) के लिए सूत्र है 

(a) Eb = N/60 x P/A

(b) Eb = ØZN/60 x P/A

(c) Eb = 60/ØZN x A/P

(d) Eb = ZN/60

Right option

संकेत Eb = बैक EMF

Ø = फलक्स (वेबर मै)

N = चालक की गति  (RPM)

P = पोलो की संख्या

A = समान्तर पथो की संख्या